जगन्नाथ रथ यात्रा के लिए मुस्लिम दान करते हैं चांदी का रथ, जानें क्यों 20 वर्षों से वे कर रहे हैं ऐसा

  • गुजरात ( gujarat ) में चार जुलाई को निकाली जाएगी जगन्नाथ यात्रा Jagannath Yatra
  • 20 वर्षों से मुस्लिम समुदाय करता आ रहा है चांदी के रथ का दान

By: Priya Singh

Published: 01 Jul 2019, 03:10 PM IST

नई दिल्ली। पुरी के अलावा भी कई ऐसी जगहें हैं जहां से भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा ( jagannath yatra ) निकाली जाती हैं। गुजरात ( Gujarat ) में हर साल यह यात्रा 14 किलोमीटर का सफर तय करती है। इसमें तीन रथ, 19 गजराज, 100 ट्रक, 30 मंडलियां और सात कारें शामिल होती हैं। यह यात्रा इसलिए भी खास है क्यों कि हर साल ये कौमी एकता का संदेश देती है। गुजरात के जमालपुर शहर में मुस्लिम समुदाय बीते 20 वर्षों से यहां के भगवान जगन्नाथ मंदिर को चांदी का रथ दान करता आ रहा है। इस साल भी अहमदाबाद ( Ahmedabad ) के भगवान जगन्नाथ मंदिर में 142वीं जगन्नाथ रथ यात्रा में मुस्लिम समुदाय ( muslim community ) ने चांदी का रथ दान किया है।

Ahmadabad jagannath temple

गोधरा कांड के बाद से ही करते आ रहे हैं दान

चार जुलाई से यह यात्रा शुरू होने वाली है। इस चांदी के रथ को भेंट करने वाले शख्स रउफ बंगाली का कहना है कि वे यह पवित्र काम सांप्रदायिक सौहार्द फैलाने के लिए करते हैं। ये दान वे गोधरा कांड के बाद से ही करते आ रहे हैं। अहमदाबाद जगन्नाथ मंदिर के महंत दिलीपदासजी का कहना है कि '20 साल से रउफ बंगाली मंदिर में रथ चढ़ाने का काम कर रहे हैं।

सुरक्षा के इंतज़ाम

महंत दिलीपदासजी कहते हैं "सांप्रदायिक सौहार्द फैलाने के लिए मैं मुस्लिम समुदाय का शुक्रिया अदा करता हूं।" बता दें कि चार जुलाई को होने वाली श्री जगन्नाथ की रथ यात्रा के लिए सारे इंतज़ाम किए जा चुके हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इलाके की सुरक्षा के लिए लगभग 25 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही पूरे इलाके में सीसीटीवी कैमरों के साथ ड्रोन भी सारी गतिविधियों पर नज़र रखेंगे।

Show More
Priya Singh Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned