ये हैं स्मार्टफोन को सुरक्षित रखने के तरीके, पैसे भी बचेंगे

दुनियाभर से ऐसी खबरें आती रहती हैं कि स्मार्टफोन में विस्फोट हो गया या आग लग गई। इस तरह की दुर्घटनाओं को रोकने के लिए आपको अपने स्मार्टफोन का समझदारी से इस्तेमाल करना चाहिए।

By: सुनील शर्मा

Published: 12 Nov 2020, 05:03 PM IST

कई लोग अपने मोबाइल फोन को चार्जिंग पर लगाकर सोने चले जाते हैं। यह तरीका जिंदगी के लिए घातक भी हो सकता है। पूरी दुनिया में मोबाइल फोन में विस्फोट और आग लगने की घटनाएं सामने आती रही हैं। स्मार्टफोन में विस्फोट का बड़ा कारण लीथियम आयन बैटरी है, जो चार्जिंग के दौरान गर्म हो जाती है। लेकिन आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। कुछ खास टिप्स की मदद से अपने हैंडसेट को सुरक्षित बना सकते हैं-

यह उपाय करने से लक्ष्मी नहीं पार करेंगी घर की देहरी, हमेशा रहेगी मेहरबान

चरण स्पर्श का ये तरीका बदल देगा आपकी जिंदगी, आशीर्वाद के साथ मिलते है कई लाभ

सही चार्जर काम में लें
स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियां इस बात पर जोर देती हैं कि यूजर्स को केवल ओरिजनल चार्जर ही काम में लेने चाहिए। मकसद ज्यादा एक्सेसरीज बेचना नहीं है, बल्कि कंपनियों को अन्य चार्जर्स की क्वॉलिटी और परफॉर्मेंस पर भरोसा नहीं होता है। यदि चार्जर खो जाए या खराब हो जाए तो ओरिजनल चार्जर खरीदने की कोशिश करें या ऐसी कंपनी का चार्जर लें, जो ओरिजनल कंपोनेंट में डील करती हो।

असली बैटरीज काम में लें
हैंडसेट में फोन के मॉडल के अनुरूप ही मैन्युफैक्चरर से अप्रूव्ड बैटरी लगी होनी चाहिए। बैटरी में किसी तरह के फिजिकल डैमेज और डीफॉर्मेटी की भी सही तरह से जांच कर लेनी चाहिए, अन्यथा बैटरी लीक या विस्फोट की आशंका हो सकती है। यह भी जरूरी है कि आप समय-समय पर स्मार्टफोन की पुरानी बैटरी को बदलते रहें।

ज्यादा देर चार्जिंग न करें
यदि लंबे समय तक फोन को चार्ज करते रहते हैं तो बैटरी की क्षमता पर नेगेटिव असर पड़ता है। अगर बैटरी 90 फीसदी चार्ज हो चुकी है तो आगे चार्ज करने की जरूरत नहीं है। बैटरी को पूरी तरह से डिस्चार्ज होने के बाद ही चार्ज करना चाहिए। फोन को पूरी रात चार्ज करने से बचना चाहिए। चार्ज पूरा होते ही फोन को अनप्लग कर देना चाहिए।

फोन को गिरने से रोकें
यह पता लगाना मुश्किल है कि स्मार्टफोन के तेजी से नीचे गिरने पर क्या प्रतिक्रिया होगी। इस आंतरिक और बाहरी नुकसान पर निर्भर करता है। इससे कैथोड व एनोड के बीच स्थित इंटरनल बैटरी सैपरेटर अपनी जगह से खिसक सकता है। इससे चार्जिंग के दौरान तापमान बढ़ता है और आग भी लग सकती है।

खतरे का संकेत समझें
अगर फोन को चार्ज करने के दौरान बैटरी गर्म महसूस हो रही है या आवाज आ रही है तो फोन को पावर सोर्स से अनप्लग कर देना चाहिए। इसके बाद डिवाइस को स्विच ऑफ कर देना चाहिए। डिवाइस को साफ स्थान पर रखें, जहां ज्वलनशील पदार्थ न हो। कुछ समय बाद फोन स्विच ऑन करके स्थिति का आकलन करना चाहिए।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned