डाउन सिंड्रोम पीड़ित बच्ची को गोद लेकर कायम की मिसाल, ऐसा करने वाले बने पहले भारतीय

डाउन सिंड्रोम पीड़ित बच्ची को गोद लेकर कायम की मिसाल, ऐसा करने वाले बने पहले भारतीय

Priya Singh | Publish: May, 30 2019 03:15:52 PM (IST) | Updated: May, 30 2019 03:18:13 PM (IST) हॉट ऑन वेब

  • दिल्ली के इस जोड़े ने कायम की अनोखी मिसाल
  • डाउन सिंड्रोम पीड़ित बच्ची को लिया गोद और दे रहे हैं ढ़ेर सारा प्यार

नई दिल्ली। तीन साल पहले एक जोड़े कविता बलूनी और हिमांशु ककटवान असाधारण करुणा दिखते हुए डाउन सिंड्रोम से पीड़ित एक बच्ची को गोद लिया। कविता और हिमांशु ऐसा करने वाला भारत का पहला और एक मात्र जोड़ा है। कविता को हमेशा यह बात खटकती थी कि जैविक बच्चे की लालसा आखिर लोगों को क्यों रहती है जबकि ऐसे कई बेशहारा बच्चे हैं जिन्हें प्यार, देखभाल और एक घर की ज़रुरत है।

100 रुपये का नोट सोशल मीडिया पर हो रहा है काफी वायरल, कारण आपको हैरान कर देगा

कविता और पति हिमांशु ककटवान का मानना है कि 'जैविक और जोद लिए गए बच्चे में कोई अंतर नहीं होता। बच्चे सिर्फ बच्चे होते हैं जिन्हें प्यार की ज़रूरत होती है, और एक जैविक होने के बजाय, उन लोगों के लिए क्यों नहीं चुना जाता है जिन्हें वास्तव में परिवार की आवश्यकता होती है।'

IRCTC पर अश्लीलता का आरोप लगाने वाले शख्स को मिला करारा जवाब, अब झेल रहा है बदनामी

जब वेदा कविता और हिमांशु ने अपने जीवन का हिस्सा बनाया तब वह महज 14 महीने की थी। यह नसीब की ही बात थी कि वेदा उनकी ज़िंदगी का हिस्सा बनी। अमेरिका ( America ) में रह रहे कविता और हिमांशु इधर किसी डाउन सिंड्रोम बच्चे को गोद लेने की सोच ही रहे थे उधर भारत के एक रेलवे स्टेशन में डाउन सिंड्रोम ( Down Syndrome ) एक छह महीने की बच्ची को कोई छोड़ गया था। भारत आकर कविता और हिमांशु ने वेदा को अडॉप्ट किया। अडॉप्टेशन के 45 दिन बाद वेदा उनकी ज़िंदगी में आ गई और उसे रोशन कर दिया।

सोशल मीडिया पर किया जा रहा है दावा, पीएम मोदी की जीत से खुश इस युवक ने सड़कों पर लुटाए लाखों रुपये!

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned