कल से शुरू हो रहा है रथयात्रा का भव्य समारोह, जगन्नाथ पुरी में जाने से पहले जान लें ये बातें नहीं तो बाद में होगा पछतावा

कल से शुरू हो रहा है रथयात्रा का भव्य समारोह, जगन्नाथ पुरी में जाने से पहले जान लें ये बातें नहीं तो बाद में होगा पछतावा

Arijita Sen | Publish: Jul, 13 2018 04:36:56 PM (IST) हॉट ऑन वेब

अगर आप भी इस रथ यात्रा में शामिल होना चाहते हैं या फिर अगले साल इसमें शामिल होने का प्लान बना रहे हैं तो कुछ बातों को जान लेना बहुत जरूरी है।

नई दिल्ली। कल यानि कि 14 जुलाई से रथ यात्रा की शुरूआत हो रही है। हर साल की तरह इस साल भी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाएगी। पूरे 9 दिनों तक इस उत्सव का पालन किया जाएगा। वैसे तो कई मंदिरों में रथयात्रा का प्रचलन है लेकिन उड़ीसा के पुरी में भगवान जगन्नाथ के रथयात्रा की बात ही कुछ और है। यहां इस पर्व को खास महत्व दिया जाता है। पुरी में कई दिनों पहले से ही इसकी तैयारियां शुरू हो जाती है। प्रत्येक साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु इस भव्य समारोह में शामिल होने के लिए पुरी जाते हैं।

 

Jagannath  <a href=Puri rathyatra" src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/07/13/1_14_3096073-m.jpg">

हालांकि किसी भी जगह में जाने से पहले या किसी भी समारोह या कार्यक्रम में शामिल होने से पहले उस बारे में अच्छे से जानकारी इकट्ठा कर लेनी चाहिए। अगर आप भी इस रथ यात्रा में शामिल होना चाहते हैं या फिर अगले साल इसमें शामिल होने का प्लान बना रहे हैं तो कुछ बातों को जान लेना बहुत जरूरी है। आज हम आपको प्रमुख तीर्थ स्थल जगन्नाथ पुरी के बारे में कुछ ऐसी बात बताने जा रहे हैं जो आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

 

Jagannath puri rathyatra

हम आपको यहां स्थित कुछ ऐसी महत्वपूर्ण जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां अगर आप नहीं गए तो आपकी पुरी की यात्रा अधूरी रह जाएगी।

पुरी में मशहूर जगन्नाथ मंदिर के आप यहां से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पुरी-भुवनेश्वर हाइवे पर साक्षी गोपाल मंदिर स्थित है। इस मंदिर में मौजूद देवता को साक्षी कहा जाता है।

Jagannath puri rathyatra

इसके अलावा कोणार्क सूर्य मंदिर जो पुरी से लगभग 35 किलोमीटर दूर है। इस मंदिर की वास्तुकला और मंदिर की दीवारों पर की गई नक्काशी पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। इसके अलावा यहां का चिलका लेक भी काफी मशहूर है जो एशिया की सबसे बड़ी खारे पानी की झील है। उड़ीसा में गए और चिलका न घूमें ऐसा तो हो ही नहीं सकता।

 

Chilka lake

अब बारी आती है यहां के बिचेस की जो पुरी की खासियत है। जहां लोग स्नान करना नहीं भूलते हैं। इसके अलावा आप यहां भीतरकनिका, महेंद्रगिरि,खंडगिरि और उदयगिरि गुफा में भी जा सकते हैं और यहां के मनमोहक नजारें को हमेशा के लिए अपनी यादों में बसा सकते हैं।

Puri beaches
Ad Block is Banned