लाखामंडल आते ही मुर्दा भी हो जाता है जिंदा, जानें मंदिर से जुड़े अनोखे रहस्य

देहरादून से करीब 128 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यह मंदिर

By: Soma Roy

Published: 06 Jan 2020, 04:06 PM IST

नई दिल्ली। देश भर में भगवान के कई चमत्कारिक धाम है। जिनकी महिमा को सुनकर लोग अचरज में पड़ जाते हैं। भगवान का एक ऐसा ही प्रसिद्ध मंदिर उत्तराखंड में स्थित है। जिसका नाम लाखामंडल है। इस मंदिर में मुर्दे को लाते ही वह जिंदा हो जाता है। मंदिर के गेट पर दो द्वारपालों की मूर्ति है। जिनमें से एक का हाथ कटा है। मगर इसका क्या रहस्य है ये आज तक कोई नहीं जान पाया है।

शिव का ये अनोखा मंदिर देहरादून से करीब 128 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां हुई खुदाई के दौरान अनेक शिवलिंग पाए गए थे, जिन्हें छठी सदी का बताया जाता है। यहां प्राप्त हुई मूर्तियां बेहद चमत्कारिक हैं। माना जाता है कि अगर किसी व्यक्ति के शव को यहां लाया जाता है तो वह जिंदा हो जाता है। इसके बाद पुजारी मंत्र पढ़कर उसके मुख में गंगाजल डालते हैं। ऐसा करते ही आत्मा दोबारा शरीर को छोड़कर चली जाती है। इससे मरने वाले शख्स को मोक्ष मिल जाता है। उसकी आत्मा अतृप्त होकर भटकती नहीं है। शिव का यह धाम कई गुफाओं और प्राचीन अवशेषों से घिरा हुआ है।

Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned