Lockdown तोड़ने की वजह सिगरेट व तम्बाकू, 23 दिनों में 6.19 करोड़ का चालान

Highlights

- 21 दिन के लॉकडाउन बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है

-इस दौरान लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है

-इस बीच कई जगहों से लॉकडाउन के उल्लंघन की खबरें आई हैं

By: Ruchi Sharma

Updated: 18 Apr 2020, 01:11 PM IST

नई दिल्ली. कोरोना का संक्रमण देश में फैलने से रोकने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका एलान किया है। इस दौरान लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है। इस बीच कई जगहों से लॉकडाउन के उल्लंघन की खबरें आई हैं। सरकार ने कहा है लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को 2 साल तक की जेल की सजा हो सकती है। केंद्रीय गृह सचिव राजीव भल्ला ने राज्यों को निर्देश दिया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को आईपीसी की धाराओं के तहत दंडित किया जाए। इन सबके बावजूद भी औसतन 40 लोग रोजाना लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे हैं। ये लोग बिना वजह और बिना मास्क के सड़क पर घूम रहे है, इन सबमें चौंका देने वाली बात यह है कि ज्यादातर लोग किसी जरूरी कार्य के लिए नहीं, बल्कि सिगरेट, बीड़ी व पान मसाला, शराब लेने के लिए घर से निकल रहे हैं।


नहीं आई उल्लंघन में कमी

एक हिंदी वेबसाइड में छपी खबर के मुताबिक 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लागू होने के बाद से ही जिले में गुटखा, सिगरेट व शराब समेत सभी तरह के नशीलों पदार्थों की बिक्री पर रोक लगा दी गई। बावजूद इसके न तो लॉकडाउन के उल्लंघन में कमी आई है और न ही नशीले पदार्थों की बिक्री पर ही प्रभावी रोक लग सका है।

90 प्रतिशत लोगों ने स्वीकारा

खबर के मुताबिक पकड़े गए करीब 90 प्रतिशत लोगों ने स्वीकार किया है कि वह किसी आवश्यक कार्य से बाहर नहीं निकले हैं बल्कि उनके घर से निकलने की वजह महज तलब की पूर्ति है। दरअसल गली मुहल्लों में गुटखा सिगरेट तो मिल रहा है, लेकिन इसके लिए लोगों को दो से तीन गुनी कीमत चुकानी पड़ रही है। ऐसे में सस्ते के चक्कर में लोग बड़ी दुकानों का रुख कर रहे हैं। इसी प्रकार गांजा शराब भी अब पहले से निर्धारित स्थानों पर नहीं मिल रहा है। ऐसे में लोगों को इसके लिए दूर जाना पड़ रहा है।

23 दिनों में 6.19 करोड़ का चालान

राज्य में 1 से 22 मार्च के बीच ट्रैफिक नियम के उल्लंघन पर सात करोड़ रुपये का चालान कटा, लेकिन लॉकडाउन के पिछले 23 दिनों में तब भी 6.19 करोड़ का चालान कट गया। वह भी तब जब सड़कों पर वाहनों के परिचालन पर रोक है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned