Lockdown: दिल्ली से बिहार के लिए पैदल निकला युवक घर लेकर पहुंचा बहू, रास्ते में ऐसे मिली जीवनसंगिनी

-Lockdown Love Story: कहते हैं जोड़ियां आसमान में बनती हैं और देर-सवेर ही सही मिल ही जाती है। कुछ ऐसी ही कहानी लॉकडाउन ( Coronavirus ) में सामने आई है।
-लॉकडाउन ( Covid-19 Lockdown ) के चलते मजदूरों का पलायन ( Migrant Labourers ) जारी है।
-कुछ लोगों के लिए यह लॉकडाउन ( Lockdown in India ) ताउम्र यादगार रहने वाला है। बिहार ( Bihar ) के सीतामढ़ी का रहने वाला सलमान भी इन लोगों में से है।
-लॉकडाउन में फंसा सलमान दिल्ली ( Delhi ) से परिवार संग पैदल ही घर के लिए निकला था।

By: Naveen

Updated: 30 May 2020, 12:39 PM IST

नई दिल्ली।
Lockdown Love Story: कहते हैं जोड़ियां आसमान में बनती हैं और देर-सवेर ही सही, लेकिन मिल ही जाती है। कुछ ऐसी ही कहानी लॉकडाउन ( Coronavirus ) में सामने आई है। जैसा कि आपको मालूम है, लॉकडाउन ( Covid-19 Lockdown ) के चलते मजदूरों का पलायन ( Migrant Labourers ) जारी है। हजारों लोग पैदल ही अपने घरों की ओर निकल पड़े हैं। बेबसी में हजारों किलोमीटर का सफर पग-पग नाप रहे हैं।

कुछ लोगों के लिए यह लॉकडाउन ( Lockdown in India ) ताउम्र यादगार रहने वाला है। बिहार ( Bihar ) के सीतामढ़ी का रहने वाला सलमान भी इन लोगों में से है। लॉकडाउन में फंसा सलमान दिल्ली ( Delhi ) से परिवार संग पैदल ही घर के लिए निकला था। हरियाणा के पलवल के बाद उसका सफर किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है, क्योंकि यहां सलमान के जिंदगी में मोहब्बत दस्तक देती है और फिर प्यार का सफर जीवनसंगिनी तक पहुंच जाता है।

lockdown_love_01.jpg

आराम से शुरू हुई प्यार की कहानी
सलमान अपने परिवार के साथ 18 मई को दिल्ली से बिहार के लिए रवाना हुआ। हरियाणा के पलवल और बल्लबगढ़ के बीच थकान होने पर परिवार एक जगह रुक गया। इसी दौरान सलमान के पिता के एक दोस्त मिल गए, जो बिहार ही जा रहे थे। वह भी परिवार के साथ थे, जिसमें 12वीं पास शहनाज भी शामिल थी। दोनों परिवार साथ ही बिहार के लिए निकल पड़े। इसी बीच दोनों परिवारों ने साथ खाना खाया और साथ ही रुकते। सलमान और शहनाज के बीच खाने का अंदाज मिलता-जुलता दिखा।

क्या आप मुझे ताजमहल दिखाएंगे?
इसके बाद दोनों परिवार आगरा पहुंचे। यहां शहनाज और सलमान के बीच बातचीत शुरू हुई। शहनाज ने सलमान से पूछा कि ये कौन सा शहर है। इस पर सलमान ने जवाब दिया कि यह ताजमहल का शहर है। इसके बाद शहनाज ने कहा कि क्या आप मुझे ताजमहल दिखाएंगे। इस पर सलमान को एहसास हुआ कि दोनों एक जैसा ही सोच रहे हैं।

Coronavirus संकट के बीच यहां मुर्गियां दे रही हरे रंग के अंडे, वैज्ञानिक भी हैरान

lockdown_love_02.jpg

दोनों परिवार को हुआ आभास
इसी बीच कानपुर पहुंचने दोनों परिवार को शहनाज और सलमान को लेकर कुछ—कुछ आभास होने लगा। परिवारों ने दोनों से बातचीत की। इस दौरान काफी बहस हुई। कानपुर के बाद से दोनों के बीच तू-तू, मैं-मैं बढ़ती चली गई।

तू-तू, मैं-मैं और शादी
जब परिवार दोनों गोरखपुर पहुंचे तो सलमान और शहनाज के बीच थोड़ी बातचीत हुई। परिवार को शक होने लगा तो दोनों तय किया वह अलग—अलग समय पर निकलेंगे। दोनों के बीच फिर तू-तू, मैं-मैं बढ़ती चली गई। इसी बीच सलमान ने ऐसा करने से मना कर दिया और कहा कि साथ चले से क्या परेशानी है। जब पिता ने मना किया तो सलमान का सब्र का बांध टूट गया और कह दिया कि शहनाज को लेकर ही जाऊंगा।

मगरमच्छ के मुंह में था मां का हाथ, बचाने के लिए बेटे ने लगा दी जान की बाजी

nikah.jpg

दोनों परिवार के बीच काफी लंबी बातचीत होती रही। दोनों परिवार में काफी गुस्सा था। लेकिन, दोनों की जिद्द के आगे समझाइश के बाद परिवार राजी हो गए और शाम को निकाह हो गया। निकाह गांव में हुआ तो गांववालों ने कुछ कपड़े और पैसे भी दिए और कहा कि ये हमारे गांव की बेटी है।

दिल्ली में टाइपिंग का काम करता है सलमान
बता दें कि सलमान ओखला में अपने परिवार के साथ रहता है और एक दुकान पर उर्दू टाइपिंग का काम करता है। लॉकडाउन में काम ठप हो गया। इसलिए बिहार लौट आए।

coronavirus
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned