Corona: गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए क्वारंटाइन तोड़ भागा युवक, अब जाना पड़ेगा जेल !

ऑस्ट्रेलिया के पर्थ (Perth of Australia) का है। युवक का नाम यूसुफ काराकया (Yusuf Karakaya) है। यूसुफ ऑस्ट्रेलिया के ही सिडनी शहर से 30 जुलाई को पर्थ पहुंचा था जिसके बाद उसे क्वारनटीन कर दिया गया था। मगर प्रेमिका से मिलने की बेचैनी उसे इस कदर हुई कि वो छुप-छुप के अपने प्रेमिका से मिलने पहुंच जाता था।

 

By: Vivhav Shukla

Published: 01 Sep 2020, 10:38 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में अपना कहर बरपा रखा है। रोजाना हजारों लोग इस वायरस की वजह से जान गवा रहे हैं। हर देश में डर का माहौल है लेकिन दो दिलों के बीच दूरियां लाना शायद मुमकिन नहीं है। तभी तो एक ब्वॉयफ्रेंड अपनी प्रेेमिका से मिलने के लिए क्वारंटाइन (Quarantine) तोड़कर भाग निकला।

क्या होती है GDP, इसके गिरने से आपका कितना होगा नुकसान?

मामला ऑस्ट्रेलिया के पर्थ (Perth of Australia) का है। युवक का नाम यूसुफ काराकया (Yusuf Karakaya) है। यूसुफ ऑस्ट्रेलिया के ही सिडनी शहर से 30 जुलाई को पर्थ पहुंचा था जिसके बाद उसे क्वारनटीन कर दिया गया था। मगर प्रेमिका से मिलने की बेचैनी उसे इस कदर हुई कि वो छुप-छुप के अपने प्रेमिका से मिलने पहुंच जाता था।

Manmohan ने Sonia Gandhi के सामने कहा था, Pranab मुझसे ज्यादा PM पद के योग्य थे

डेली मेल की खबर के मुताबिक यूसुफ (Yusuf Karakaya) को पर्थ के होटल में क्वारटीन किया गया था। वे तीन मंजिल पर स्थित अपने कमरे की खिड़की से निकल कर अपने प्रेमिका से मिलने जाता था और रात के अधेंरे में वह एक सीढ़ी के जरिए वापस अपने कमरे में चला जाता था। यूसुफ अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए अगले कुछ दिन तक वह बार-बार ऐसा ही करता रहा। लेकिन एक दिन स्टाफ ने वहां से सीढ़ी हटा दी। जिसके बाद उसका भंड़ा फोड़ हो गया।

Pranab Mukherjee Dead: राजनेता के अलावा प्रोफेसर और पत्रकर भी थे प्रणब मुखर्जी, जानिए उनके बारे में 10 खास बातें

मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मे कोरोना से जुड़े नियम तोड़ने के लिए उसे गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद वहां की एक अदालत ने उसे छह महीने जेल की सजा सुनाई है।

Pranab Mukherjee Dead: भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की कुछ अनदेखी तस्‍वीरें

कोर्ट में सुनवाई के दौरान यूसुफ ने कहा आज गर्लफ्रेंड का बर्थडे है जिसके लिए उसने नियम तोड़े थे। लेकिन अदालत ने उसकी बात अनसुनी कर उसे 6 महीने की सजा सुना दी गई, लेकिन उसे एक महीने ही जेल में रहना होगा क्योंकि बाकी की सजा एक साल के लिए स्थगित रहेगी।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned