अब पंडित नहीं थानेदार की मौजूदगी होगी शादी में जरूरी, नियमों के पालन के लिए​ लिया अनोखा फैसला

  • Marriage in Unlock 1.0: समारोह में लोगों की ज्यादा भीड़ न हो एवं अन्य नियमों का पालन हो इसके लिए थानेदार अपने-अपने एरिया के फंग्शन की निगरानी करेंगे
  • 13 जून को भीलवाड़ा में हुए फंग्शन में उड़ी थी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्ज्यिां, लगाया गया था साढ़े छह लाख का जुर्माना

By: Soma Roy

Published: 29 Jun 2020, 04:29 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण लोगों को राहत देने के लिए अनलॉक-1 में शादी समारोह (Wedding ceremony) के लिए थोड़ी छूट दी गई थी। मगर हाल ही में राजस्थान (Rajasthan) के भीलवाड़ा में इसका बेजा इस्तेमाल होता पाया गया। शादी समारोह में भीड़ इकट्ठा होने पर शादी प्रबंधक पर 6,26,600 रुपए का जुर्माना लगाया था। उसके बाद अब भीलवाड़ा में होने वाले फंग्शन पुलिस की मौजूदगी (Police presence) में हो रहे हैं। अब पंडित की जगह शादी में थानेदार का होना ज्यादा जरूरी है। तभी तो अपने इलाके में होने वाली शादी में थाना प्रभारी खुद बैठकर पूरा जायजा ले रहे हैं।

शादी समारोह (Marriage Function) में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन न हो इसके लिए थानाध्यक्ष अपने एरिया के अनुसार चेकिंग कर रहे हैं। चौकसी ये बानगी भीलवाड़ा में ही हुई एक दूसरी शादी में देखने को मिली। जहां शैलेंद्र चौधरी के पुत्र हर्षित की शादी प्रतापनगर थानाधिकारी की निगरानी में हुई। गाइडलाइन के तहत शादी में करीब 35 से 40 लोगों ने ही शिरकत की। साथ ही वहां मेहमानों के मास्क लागाने और सैनिटाइजेशन का भी ध्यान रखा गया। इसी तरह अन्य इलाकों में भी चेकिंग बढ़ा दी गई है। नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है।

मालूम हो कि 13 जून को भीलवाड़ा (Bhilwara) के भदादा मोहल्ले में हुई शादी समारोह में कोरोना प्रोटोकॉल की जमकर धज्जियां उड़ी। यहां जरूरत से ज्यादा भीड़ आ गई। जब मेहमानों का कोरोना टेस्ट किया गया तो उनमें से 16 लोग पॉजिटिव पाए गए। जबकि एक की मौत हो गई। इसके बाद से प्रशासन में हड़कंप मच गया। जिला कलेक्टर ने दूल्हे के पिता पर 6,26,600 का जुर्माना लगाया।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned