फांसी पर लटकी हुई मां के पैर हिलाकर दूध मांगता रहा नन्हा बच्चा, लेकिन अफसोस अब उसे कभी मां का प्यार नहीं मिलेगा

काफी देर तक मां के पैर हिलाने के बाद भी उसे दूध नहीं मिला तो वह रोता हुआ घर से बाहर निकल आया।

By:

Published: 22 Jul 2018, 01:03 PM IST

नई दिल्ली। पंचकुला से एक ऐसी खबर आई, जिसे पढ़ने के बाद आपके आंखों से आंसु निकल आंएगे। पंचकुला के बलटाना चौकी क्षेत्र के अंतर्गत एक महिला ने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला ने घर के पंखे में फंदा टांगा और उसपर झूल कर अपनी जान दे दी। लेकिन इसके साथ ही एक बात ऐसी भी है, जो आपको रोने के लिए मजबूर कर देगी। बता दें कि जब महिला फांसी के फंदे पर लटक कर अपनी जान दे चुकी थी, उस वक्त घर में उसका दो साल का बेटी भी था। बेटा काफी देर से भूखा था, इसलिए वह रोने लगा। भूख की वजह से रो रहा बच्चा फंदे पर लटकी हुई महिला के पैर हिलाकर दूध मांग रहा था, लेकिन उस नन्हे से बच्चे की मां तो उसे हमेशा-हमेशा के लिए छोड़कर जा चुकी थी।

काफी देर तक मां के पैर हिलाने के बाद भी उसे दूध नहीं मिला तो वह रोता हुआ घर से बाहर निकल आया। बच्चे को ज़ोर-ज़ोर से रोता देख पड़ोसी उसे घर में ले जाने लगे। घर में घुसते ही पड़ोसियों ने देखा की बच्चे की मां आरती फांसी पर लटकी हुई है तो उनके पैरों तले ज़मीन खिसक गई। जिसके बाद उन्होंने तुरंत पुलिस को पूरे मामले की सूचना दी। मौका-ए-वारदात पर पहुंचे बलटाना चौकी इंचार्ज सतिंदर सिंह ने पूरे घर का मुआयना किया और आरती के पति अजय कुमार को इस बाबत पूरी जानकारी दी।

इसके साथ ही आरती के घर वालों को भी पूरे मामले की सूचना पहुंचा दी गई। हालांकि पुलिस को घर से किसी भी प्रकार का कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। जानकारी के मुताबिक अजय दिहाड़ी पर काम करता था, इसके साथ ही वह रात के समय गार्ड की भी ड्यूटी करता था। वारदात वाले दिन भी अजय रात का खाना खाकर ड्यूटी पर चला गया था। जिसके बाद आरती फांसी के फंदे पर झूलकर मर गई। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned