बेटी को 70 बार चाकुओं से गोदा और फिर घर में लगा दी आग, वजह सामने आने के बाद प्रशासन में मचा हड़कंप

बेटी को 70 बार चाकुओं से गोदा और फिर घर में लगा दी आग, वजह सामने आने के बाद प्रशासन में मचा हड़कंप

Sunil Chaurasia | Publish: May, 18 2018 02:48:23 PM (IST) हॉट ऑन वेब

बीते मंगलवार की दोपहर को पुलिस ने तेहरीराह अहमद को एक पार्किंग से गिरफ्तार कर लिया।

नई दिल्ली। अमेरिका के ओक्लाहोमा से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला सामने आया है। यहां एक महिला ने अपनी ही बेटी को बेरहमी से चाकुओं से गोद दिया। तेहरीराह अहमद नाम की महिला ने अपनी बड़ी बेटी (11 साल) को करीब 70 बार चाकुओं से गोद कर बुरी तरह से घायल कर दिया। बेटी को बुरी तरह से लहु-लुहान करने के बाद तेहरीराह ने अपने घर में आग लगा दी। जिसके बाद तेहरीराह छोटी बेटी को लेकर फरार हो गई थी। जिसे बीते मंगलवार की दोपहर को पुलिस ने एक पार्किंग से गिरफ्तार कर लिया। राहत की बात ये है कि पुलिस ने सनकी मां की छोटी बेटी को भी सही-सलामत अपने कब्ज़े में ले लिया। तेहरीराह की छोटी बेटी का नाम हाफसा है, जो अभी महज़ 8 साल की है।

खबरों के मुताबिक बड़ी बेटी को चाकुओं से गोदने के बाद हाफसा को लेकर फरार हुई तेहरीराह के खिलाफ तलाशी अभियान शुरु कर दिया गया था। इसके साथ ही प्रशासन ने सोमवार को हाफसा के लिए Amber Alert की घोषणा भी कर दी थी। जबकि तेहरीराह का तीसरा बच्चा जिसकी उम्र 9 साल बताई जा रही है, अपनी जान बचाने के लिए किसी रिश्तेदार के घर जा भागा। तेहरीराह की बड़ी बेटी की हालत काफी नाज़ुक है। हालांकि डॉक्टरों की एक बड़ी टीम बच्ची को बचाने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।

पुलिस ने तेहरीराह को गैर-ज़मानती वारंट के तहत गिरफ्तार किया है। तेहरीराह पर बाल शोषण, बच्चे पर जानलेवा हमला, आगज़नी, हत्या की कोशिश जैसे मामले दर्ज किए गए हैं। लेकिन सबसे ज़्यादा चौंकाने वाली बात ये है कि कैदियों के लिबास में जेल जाते हुए तेहरीराह मुस्कुरा रही थी। उसे इस बात का बिल्कुल भी मलाल नहीं है कि उसने अपनी बेटी को 70 बार चाकुओं से गोद दिया और घर में आग लगा दी।

पूछताछ के दौरान तेहरीराह ने बताया कि वह अपने बच्चों से बहुत ज़्यादा परेशान हो गई थी। बच्चों के पढ़ने का तरीका और उनकी नज़रें तेहरीराह को बिल्कुल भी पसंद नहीं है। उसने पहले तो दोनों को टेप से बांध दिया, उसके बाद उसने बड़ी बेटी पर ताबततोड़ चाकुओं से हमला कर दिया।

Ad Block is Banned