Mothers Day 2020 : कोरोना वारियरस की भूमिका अदा कर रही है मां, कहा- गले भी नहीं लगा पाती बच्चों को

Highlights

- इस बार मदर्स डे 10 मई (Mother's Day Date) को है

-मां को सम्मान देने वाले इस दिन को कई देशों में अलग-अलग तारीख पर सेलिब्रेट किया जाता है

-लेकिन भारत समेत ज्‍यादातर देशों में मई के दूसरे रविवार को ही मदर्स डे (Happy Mother Day Date) के रूप में मनाया जाता है

By: Ruchi Sharma

Updated: 09 May 2020, 05:20 PM IST

नई दिल्ली. Mother's Day 2020: हर साल मई के दूसरे रविवार को दुनिया भर में मदर्स डे (Mother's Day) मनाया जाता है। इस बार मदर्स डे 10 मई (Mother's Day Date) को है। मां को सम्मान देने वाले इस दिन को कई देशों में अलग-अलग तारीख पर सेलिब्रेट किया जाता है,लेकिन भारत समेत ज्‍यादातर देशों में मई के दूसरे रविवार को ही मदर्स डे (Happy Mother Day Date) के रूप में मनाया जाता है। लेकिन इस बार लॉकडाउन के चलते मदर्स डे व एेसे कई आयोजनों को घर पर ही मनाने की बात सरकार कह रही है। वहीं कोरोना वायरस महामारी के दौर में दुनिया भर में सैकड़ों ऐसी माताएं भी हैं जो हेल्थकेयर पेशेवर हैं। इन्हें अपने बच्चों के साथ मदर्स डे मनाने के लिए शायद अगले साल तक इंतजार करना होगा।

उनमें से कई ने परिवारों से दूर रहने का विकल्प चुना है या फिर अपने घरों में अपने रहने के हिस्से को सील कर लिया है ताकि अपने प्रियजनों को वायरस के खतरे से बचा सकें। वे यहां तक कि अपनों के गले भी नहीं लगते। यह समय उन माताओं के लिए बड़ा मुश्किल भरा है। एक हिंदी न्यूज एजेंसी ने कोरोना वारियरस एक महिला से बात की जो मां की भी भूमिका अदा कर रही हैं। वे बताती हैं कि उनके 10 साल से कम उम्र के दो बेटे हैं। उन्होंने कहा, "पेशे की असाधारण प्रकृति को देखते हुए मुझे अपने बच्चों के साथ बहुत अधिक समय बिताने के लिए नहीं मिलता है। लेकिन अब मुझे लगता है कि मैं उनके साथ पहले से कहीं और कम समय बिताती हूं।" उन्होंने कहा कि "सैनिटाइजेशन प्रोटोकॉल और हेल्थ एडवाइज़री के बाद मैंने खुद को बच्चों से दूर किया है जो कि एक मां को भावनात्मक रूप से परेशान करता है। लेकिन साथ ही इस समय राष्ट्र की सेवा करने की जरूरत है जो कि सबसे अधिक आवश्यक है।"

उन्होंने कहा कि "जब आम दिनों की तरह जिस दिन मैं घर वापस आऊंगी तो वे बस मेरे पास आएंगे गर्मजोशी के साथ मैं उन्हें गले लगा सकूंगी। मुझे इसका इंतजार रहेगा।" वे कहती हैं कि "हालांकि अभी जब मैं घर जाती हूं तो या तो मैं चुपके से घुसने की कोशिश करती हूं ताकि उन्हें पता न चले, या अगर उन्हें पता चल जाए और वे मेरी तरफ भागने लगें तो मुझे उनसे दूर भागना पड़ता है।''

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned