Good News: भारत में जो 20 सालों में नहीं हो सका वो लॉकडाउन में हो गया, NASA ने भी की पुष्टि

-Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन में प्रकृति के लिए अच्छे दिन साबित हो रहे है। लॉकडाउन ( lockdown in India ) की वजह से हवा की गुणवत्ता ( Air Quality in Lockdown ) में काफी सुधार हुआ है।
-यूनिवर्सिटीज स्पेस रिसर्च एसोसिएशन के पवन गुप्ता ने कहा, उत्तर भारत की हवा में प्रदूषण का स्तर इससे पहले इतना कम नहीं देखा।
-नासा ( NASA ) ने कहा, उत्तर भारत में हवा में प्रदूषण का स्तर पिछले 20 साल के अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है।

 

By: Naveen

Updated: 23 Apr 2020, 02:16 PM IST

नई दिल्ली।
भारत समेत पूरी दुनिया समय कोरोना वायरस ( coronavirus ) के संकट से जूझ रही है। अब तक इस वायरस ( COVID-19 ) की वजह से पौने दो लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि, 25 लाख से भी ज्यादा लोग इससे संक्रमित है। कोरोना ( Coronavirus in india ) को रोकने के लिए तमाम देशों में लॉकडाउन ( Lockdown ) किया गया है। जिसके चलते लोग अपने घरों में ही हैं। लॉकडाउन से भले ही लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही हैं, लेकिन प्रकृति के लिए अच्छे दिन साबित हो रहे है। लॉकडाउन ( lockdown in India ) की वजह से हवा की गुणवत्ता ( Air Quality in Lockdown ) में काफी सुधार हुआ है। दिल्ली की जहरीली हवा के कारण दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में गणना होने लगी थी। लेकिन, लॉकडाउन के चलते इसमें काफी सुधार हो रहा है। इसकी पुष्टि खुद अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा ( NASA ) ने की है।

कोरोना काल के बीच देर रात आकाश में हुई अद्‍भुत खगोलीय घटना, क्या आपने भी देखीं ?

lockdown_good_news_02.jpg

सैटेलाइट फोटो की जारी
नासा ने सैटेलाइट फोटो जारी कर इसकी जानकारी दी है। नासा ने कहा, 25 मार्च को देश में लॉकडाउन होने के कारण 130 करोड़ लोग अपने घरों में रहने लगे। फैक्ट्री, बस, ट्रक, विमान सेवाओं पर रोक लगा दी गई। नासा ने लॉकडाउन के बाद की स्थिति का सैटेलाइट सेंसर के जरिए जायजा लिया। नासा ने कहा, उत्तर भारत में हवा में प्रदूषण का स्तर पिछले 20 साल के अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया। हवा जो जहरीली होने के कारण इंसानों के फेफड़ों और गुर्दे को बुरी तरह से प्रभावित करती हैं, अब कम होने लगा है।

lockdown_good_news_01.jpg

पहली बार इतनी साफ हुई हवा
यूनिवर्सिटीज स्पेस रिसर्च एसोसिएशन के पवन गुप्ता ने कहा, लॉकडाउन का असर आने वाले दिनों में दिखेगा। पर्यावरण पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा, अप्रैल माह में उत्तर भारत की हवा में प्रदूषण का स्तर इतना कम नहीं देखा। नासा की तस्वीर इस बात को प्रमाणित करती है कि एयरोसोल ( Aerosol ) काफी कम हुआ है।

दक्षिण भारत में स्थिति
सैटेलाइट तस्वीर से समझें तो दक्षिण भारत में एयरोसोल का स्तर इतना कम ना होकर बढ़ गया है। पिछले चार वर्षों की तुलना में यहां बढ़ोतरी देखने को मिली है।

coronavirus Coronavirus in india COVID-19
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned