भारी बर्फबारी के बावजूद इस मकान पर नहीं थी बर्फ, पुलिस ने छापा मारा तो मिली ये खतरनाक चीज़

भारी बर्फबारी के बावजूद इस मकान पर नहीं थी बर्फ, पुलिस ने छापा मारा तो मिली ये खतरनाक चीज़

Sunil Chaurasia | Publish: Aug, 14 2018 05:58:57 PM (IST) हॉट ऑन वेब

पुलिस को मकान पर शक हुआ तो उन्होंने रणनीति बनाई और छापा मार दिया।

नई दिल्ली। नीदरलैंड्स की राजधानी एम्सटर्डम से थोड़ी दूरी पर स्थित हार्लेम सिटी से एक बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है। सर्दियों की बात है, जब हार्लेम शहर भारी बर्फबारी की वजह से बर्फ की चादर में ढका हुआ था। लेकिन यहां एक मकान ऐसा भी था, जिसकी छत का कुछ हिस्सा रहस्यमयी तरीके से बगैर बर्फ के ही था। कहने का मतलब ये कि, छत के बीच के हिस्से पर कोई बर्फ मौजूद नहीं थी। मामला आज से करीब तीन साल पहले का है। पुलिस की नज़र जब इस मकान पर पड़ी तो उनका माथा ठनक गया, क्योंकि जब पूरे देश के मकान बर्फ की चादर से ढके हुए थे तो ऐसी स्थिति में उस मकान के बीच का हिस्से पर बर्फ का एक कतरा भी क्यों नहीं था।

पुलिस को मकान पर शक हुआ तो उन्होंने रणनीति बनाई और छापा मार दिया। मकान के अंदर तलाशी ली गई तो पुलिस के पैरों तले ज़मीन खिसक गई। पुलिस ने देखा कि मकान में गांजे की खेती की जा रही है। जिनकी देखरेख के लिए आरोपियों ने घर में हीटलैंप लगाए हुए थे। इन्हीं हीटलैंप की वजह से मकान की छत के उस हिस्से पर बर्फ नहीं टिक पा रही थी और पिघल कर गिर जा रही थी। हीटलैंप्स की वजह से गांजे की खेती वाली जगह का तापमान करीब 29 डिग्री सेल्सियस था, जिसकी वजह से उस हिस्से में बर्फ जमने का कोई सवाल ही पैदा नहीं हो सकता।

हालांकि ये साफ नहीं हो पाया कि पुलिस की इस छापेमारी में गांजे के कितने पौधे पाए गए और बरामद की गई गांजे की मात्रा कितनी थी। नीदरलैंड्स के कानून के मुताबिक एक शख्स अपने घर में गांजे के अधिकतम पांच पौधे लगा सकता है। इसके अलावा नीदरलैंड्स में किसी भी व्यक्ति को पांच ग्राम से ज़्यादा गांजा रखने का अधिकार नहीं है। यदि कोई व्यक्ति इन नियमों का उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसके साथ सख्त कार्रवाई की जाती है। पुलिस ने बताया कि उन्होंने इस मामले से कुछ हफ्ते पहले ही जुतफेन सिटी में भी गांजे की अवैध खेती पर छापा मारा था। वहां भी अवैध रूप से गांजे की खेती की जा रही थी, जहां की छत पर कड़ाके की सर्दी में भी बर्फ नहीं थी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned