कभी जेब में नहीं रहते थे सौ रुपये, रातोंरात ऐसे पल्टी किस्मत कि एक मजदूर अब बन गया करोड़पति

कभी जेब में नहीं रहते थे सौ रुपये, रातोंरात ऐसे पल्टी किस्मत कि एक मजदूर अब बन गया करोड़पति

Arijita Sen | Publish: Sep, 07 2018 11:09:18 AM (IST) हॉट ऑन वेब

वक्त से ज्यादा ताकतवर और कुछ नहीं। अगर ऐसा नहीं होता तो एक मजदूर के लिए रातोंरात करोड़पति बन जाना संभव नहीं होता।

नई दिल्ली। अकसर हमने लोगों को ऐसा कहते सुना है कि कभी भी किसी भी बात पर घमंड नहीं करना चाहिए क्योंकि वक्त एक ऐसी चीज है जो कभी भी बदल सकती है। दुनिया में केवल समय सर्वशक्तिमान है जो राजा को रंक और रंक को राजा बनाने की क्षमता रखता है। अगर ऐसा नहीं होता तो एक सामान्य मजदूर के लिए रातोंरात करोड़पति बन जाना संभव नहीं होता।

 

Lottery

हम यहां पंजाब स्थित संगरूर के मांडवी गांव में रहने वाले एक मजदूर की बात कर रहे हैं जिसकी किस्मत वक्त ने एक झटके में बदल दी।हर आम इंसान की तरह मनोज भी अमीर बनने का सपना देखता था, लेकिन मजदूरी कर ऐसा हो पाना कभी संभव नहीं था। हालांकि किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

मजदूरी कर अपना जीवन-यापन करने वाले मनोज कुमार को जब यह पता चला कि पंजाब राज्य राखी बंपर 2018 प्रतियोगिता के लॉटरी के टिकट बिक रहे हैं तो उसने भी उसे खरीदने का मन बना लिया, लेकिन उस वक्त मनोज के पास टिकट को खरीदने के 200 रुपये भी नहीं थे।

 

Lottery

अब भला होनी को कौन टाल सकता है। मनोज ने इस टिकट को खरीदने के लिए अपने एक दोस्त से 200 रुपये उधार लिए और इस रकम से उसने वह टिकट खरीदा।29 अगस्त को लुधियाना में जब राखी बंपर 2018 के विजेताओं की घोषणा की गई तो उसमें टो टिकट की डेढ़-डेढ़ करोड़ रुपये की लॉटरी लगी। इन दो टिकटों में से एक मनोज का भी था।

 

money

मनोज को जैसे ही इस बात की खबर लगी तो उसके लिए इसे यकीन कर पाना संभव नहीं था। मनोज का कहना है कि, उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि इतनी बड़ी रकम कभी उसके हाथ लग पाएगी। इन पैसों से अब उसकी सारी परेशानियां हमेशा के लिए दूर हो जाएगी। वाकई में मनोज के इस वाक्ये से एक बात तो साफ है कि, 'ऊपर वाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़ के देता है।'

Ad Block is Banned