बदल जाएगी कम्प्यूटर्स की दुनिया, चुटकी बजाते हल होगी बड़ी से बड़ी केल्कुलेशन

वर्तमान समय में हम सभी को सुपरफास्ट कम्प्यूटर चाहिए।

By: सुनील शर्मा

Published: 09 Feb 2021, 01:16 PM IST

वर्तमान समय में हम सभी को सुपरफास्ट कम्प्यूटर चाहिए। इनकी तकनीक में लगातार सुधार भी हो रहा है। लेकिन क्वांटम कम्प्यूटिंग भविष्य की तकनीक है। यह सबसे तेज़ डिजिटल कंप्यूटर की क्षमताओं से भी ज्यादा तेज प्रॉब्लम्स को हल करने के लिए पर्याप्त कम्प्यूटेशनल पावर का स्त्रोत है। इसलिए अमरीकी डिफेंस एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी (डार्पा) इसे हकीकत में बदलने पर काम कर रही है। डीएआरपी इसके जरिए मशीनों और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को और परिष्कृत बनाना चाहती है।

परमानेंट हो सकता है वर्क फ्रॉम होम, कर्मचारी और कंपनियों को मिलेंगे ये फायदे

मीठे काढ़े से दूर होगा बुखार, नहीं होंगी छोटी-मोटी बीमारियां भी, जानिए कैसे बनाएं

क्वांटम कम्प्यूटिंग के बारे में जानकारी जुटाने के लिए डीएआरपीए जानकारों से सुझाव मांग रही है। क्या विज्ञान और प्रौद्योगिकी से संबंधित समस्याओं जैसे जटिल भौतिक प्रणालियों को समझना, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीनों को सिखाने के लिए क्वांटम कंप्यूटिंग नई क्षमताओं का निर्माण कर सकती है? साथ ही डीएआरपीए जटिल विज्ञान और प्रौद्योगिकी समस्याओं के निदान का सुझाव भी देती है ताकि प्रौद्योगिकी को हल करने के लिए इसका लाभ उठाया जा सके।

इसके लिए क्वांटम कम्प्यूटिंग की आधारभूत सीमाओं को लागू करना जरूरी है। क्वांटम तकनीक आधारित कम्प्यूटर से कनेक्टिविटी, बेहतर स्पीड और कम्प्यूटर जनित बड़ी तकनीकी समस्याओं के समाधान में बेहतर परिणाम मिल सकेंगे।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned