पिता ने नहीं भरी स्कूल फीस तो, टीचर्स ने 3 दिन तक बच्ची को दी शर्मनाक सज़ा

मध्यप्रदेश में नौवीं की छात्रा के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ लेकिन उसके पिता की मजबूरी समझने की जगह स्कूल प्रशासन ने इस बच्ची के साथ ऐसा बर्ताव किया जो बेहद ही शर्मनाक है।

By: Vineet Singh

Published: 02 Mar 2019, 12:58 PM IST

नई दिल्ली: स्कूल जाना हर बच्चे का अधिकार है लेकिन गरीबी और अन्य कारणों की वजह से कभी-कभार कुछ अभिभावक अपने बच्चों की स्कूल फीस नहीं भर पाते हैं। मध्यप्रदेश में नौवीं की छात्रा के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ लेकिन उसके पिता की मजबूरी समझने की जगह स्कूल प्रशासन ने इस बच्ची के साथ ऐसा बर्ताव किया जो बेहद ही शर्मनाक है।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में रहने वाली ये बच्ची राजधानी भोपाल के सरस्वती कोएड हायर सेकंडरी स्कूल की छात्रा है। किन्हीं कारणों के चलते इस बच्ची के पिता ने स्कूल फीस जमा नहीं की थी जिसकी वजह से स्कूल में इस बच्ची के साथ अमानवीय बर्ताव किया गया जिसके बारे में खबर बाहर निकलने के बाद अब स्कूल प्रशासन पर कार्रवाई की जा रही है।

दरअसल फीस जमा ना होने की वजह से टीचरों ने इस बच्ची को लगातार दो दिनों तक खड़े होकर एग्जाम देने की सज़ा सुनाई। इस बच्ची ने स्कूल प्रशासन से मिन्नतें भी की लेकिन प्रिंसिपल के कहने पर स्कूल के टीचरों ने खड़े रहकर ही इस बच्ची को एग्जाम देने की सज़ा सुनाई। जब तीसरे दिन बच्ची स्कूल जा रही थी तो उसने अपने पिता से कहा कि वो स्कूल की फीस भर दें नहीं तो नहीं तो आज भी उसे खड़े होकर पेपर देने की सज़ा सुनाई जाएगी।

इस बात की जानकारी लगते ही बच्ची के पिता ने स्कूल के प्रिंसिपल से संपर्क किया लेकिन उनका जवाब नहीं आया इसके बाद बच्ची के पिता ने इस घटना के सबूत के तौर पर एक वीडियो बनाया जिसकी जानकारी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को हुई। अब इस घटना की जांच की जा रही है और बच्ची का बयान लिया जा चुका है। जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने बच्ची के पिता की शिकायत को सही पाया है। अगर जांच पूरी होने पर स्कूल प्रबंधन को दोषी पाया जाता है तो स्कूल की मान्यता खत्म हो सकती है।

Vineet Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned