मछली के इस हिस्से का सूप पीने से फौलादी हो जाता है जिस्म! एक कटोरी सूप की कीमत 70 हजार

मछली के इस हिस्से का सूप पीने से फौलादी हो जाता है जिस्म! एक कटोरी सूप की कीमत 70 हजार

Vinay Saxena | Publish: Sep, 04 2018 11:18:10 AM (IST) हॉट ऑन वेब

दरअसल, खुफिया राजस्व निदेशालय ने मुंबई और गुजरात के समुद्री तटों से आठ हजार किलोग्राम शार्क फिन जब्त की है।

नई दिल्ली: एशियाई देशों में शार्क फिन सूप की लोकप्रियता ने शार्क मछली के अस्तित्व पर संकट खड़ा कर दिया है। शार्क फिन शार्क का ऊपरी पिछला हिस्सा होता है, जो तैरने में सहायक होता है। फिन को काटने के बाद शार्क मछलियों को समुद्र में छोड़ दिया जाता था। पानी के बहाव में कुछ दूर जाने के बाद ही इनकी मौत हो जाती है।

जब्त की गई आठ हजार किलोग्राम शार्क फिन


दरअसल, खुफिया राजस्व निदेशालय ने मुंबई और गुजरात के समुद्री तटों से आठ हजार किलोग्राम शार्क फिन जब्त की है। माना जा रहा है कि इसके लिए करीब 20 हजार शार्क मछलियों को मार दिया गया। इस मामले में 4 लोगों की गिरफ्तारी की गई है। जानकारी के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय बाजार में शार्क फिन की कीमत करीब 40 करोड़ लगाई गई है। शार्क मछलियों के इस पिछले हिस्से को चीन और हॉन्ग कॉन्ग भेजा जाना था। कुछ देशों में इसका इस्तेमाल सेक्सवर्धक दवाओं में भी किया जाता है।

सूप पीने से बढ़ जाती है उम्र

बताया जा रहा है कि चीन में शार्क ‌‌फिन सूप की बहुत डिमांड है। सूप को पीने से ताकत मिलती है। यही नहीं माना जाता है कि मछली के इस हिस्से का सूप पीने से उम्र बढ़ जाती है। इसी वजह से बाजार में इसकी कीमत भी बहुत ज्यादा है। खबरों के मुताबिक, चीन में इसे कुछ खास मौकों पर भी बनाया जाता है। विदेशों में एक कटोरी सूप की कीमत करीब 70 हजार रुपए से है।

विलुप्त होने की कगार पर शार्क की प्रजातियां


बता दें, शार्क मछलियों की 21 में से 16 प्रजातियों पर विलुप्त होने की कगार पर हैं। कुछ समय पहले वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च की थी, जिसमें इस खतरे को लेकर सचेत किया गया है। सरकारों पर दबाव बनाया जा रहा है। इस पर प्रतिबंध लगाएं और जैव विविधता पर मंडरा रहे संकट को दूर करें।

Ad Block is Banned