20 साल बाद सोमवती अमावस्या पर बन रहा है दुर्लभ संयोग, आज के दिन न करें ये 5 काम

  • Somvati Amavasya 2020 : सावन में पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती व्रत के नाम से जाना जाता है
  • इस दिन स्नान, दान का विशेष महत्व है। इससे भोलेनाथ की कृपा मिलती है

By: Soma Roy

Published: 20 Jul 2020, 10:00 AM IST

नई दिल्ली। सावन में पड़ने वाली सोमवती अमावस्या (Somvati Amavasya) का विशेष महत्व होता है। इस दिन शिव जी (Lord Shiva) की आराधना करने से 0 मानसिक शांति मिलती है। साथ ही दूसरी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। इस बार यह पर्व 20 जुलाई यानी आज है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस साल सोमवती और हरियाली अमावस्या का खास योग बन रहा है। ऐसा दुर्लभ संयोग 20 वर्ष के बाद (Special Yog) बन रहा है। इसलिए आज के दिन पूजा करने और व्रत रखने से व्यक्ति को पौष मास में मूल नक्षत्र के कारण दोषों से छुटकारा मिल सकता है। मगर जाने-अनजाने कई लोग कुछ बातों का ध्यान नहीं रखते, जिसके कारण उन्हें परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। तो कौन-से हैं वो काम जो आज के दिन भूलकर भी नहीं करने चाहिए, आइए जानते हैं।

1.सोमवती अमावस्या के दिन सुबह देर तक सोना नहीं चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से आपकी किस्मत भी सो जाएगी। इसलिए आज के दिन प्रात:काल उठकर स्नान करें और भोलेनाथ की पूजा करें। इस दिन सूर्य देव को अघ्र्य देना भी अच्छा माना जाता है।

2.सोमवती अमावस्या के दिन दाढ़ी बनवाने, बाल और नाखूान काटने आदि कामों को न करें। साथ ही शरीर पर तेल भी न लगाएं। इससे धन की हानि हो सकती है।

3.सोमवती अमवास्या के दिन नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव बढ़ जाता है इसलिए इस दिन श्मशान घाट या कब्रिस्तान के आस—पास न जाएं। ऐसा करने पर आप पर नेगेटिव एनर्जी हावी हो सकती है।

4.आज के दिन पति—पत्नी को संयम रखना चाहिए। क्योंकि पूजन के दिन सादगी का विशेष महत्व होता है। इस बात का ख्याल न रखने से घर में लड़ाई—झगढ़ा बढ़ सकता है।

5.गरुड़ पुराण के अनुसार सोमवती अमावस्या को मांस, मदिरा एवं अन्य व्यसनकारी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इन्हें अपवित्र माना जाता है।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned