समोसे में निकली छिपकली पहले भी हो चुकी हैं ऐसी कई घटनाएं, कितना सच-कितना झूठ?

समोसे में निकली छिपकली पहले भी हो चुकी हैं ऐसी कई घटनाएं, कितना सच-कितना झूठ?

Prakash Chand Joshi | Updated: 19 Aug 2019, 03:07:21 PM (IST) हॉट ऑन वेब

  • लोगों ने किया होटल में हंगामा

नई दिल्ली: अमूमन आप कभी न कभी तो बाहर रेस्टोरेंट में खाना खाने के लिए जरूर जाते होंगे। इनमें से कोई आपकी मनपसंद जगह होगी तो शायद कोई जगह ऐसी भी होगी जहां आप पहली बार गए होंगे। लेकिन सोचिए कि अगर आप कहीं बाहर होटल में कुछ खाने के लिए गए हैं और वहां आपके खाने में कुछ जैसे छिपकली जैसी चीज निकल जाए तो फिर? चौंकिए मत जनाब ऐसा सच में हुआ है। चलिए आपको पूरा मामला बताते हैं।

मलिहाबाद से लखनऊ जा रहे एक परिवार के लोग नाश्ता करने के लिए हरदोई रोड स्थित दुर्गागंज चौराहे पर राठौर रेस्टोरेंट पर रुके। यहां उन्होंने नाश्ता करने के लिए समोसा ऑर्डर किया। ग्राहक के मुताबिक, जैसे ही उसने समोसे को खाने के लिए तोड़ा तो उसमें से छिपकली का सिर देख सभी हैरान रह गए। वहीं परिवार के अन्य सदस्यों ने जो समोसे उन्हें रेस्टोरेंट वाले ने दिए थे उन्हें खाना शुरू कर दिया था। परिवार के लोगों को समोसे के अंदर छिपकली देखकर गुस्सा आ गया। ऐसे में उन्होंने होटल मालिक जुगल किशोर उर्फ जुगनू से शिकायत की तो वो इस पर भड़क उठा। उसका कहना था कि समोसे में हरा मिर्च फ्राई करके डाला जाता है।

वहीं इस बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी होने लगी और कुछ देर बाद ही हंगामा भी शुरू हो गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। समोसा खाने से बच्‍चे बीमार होने की बात कहते हुए परिवार ने होटल मालिक के खिलाफ लिखित शिकायत देने के साथ-साथ यूट्यूब और फेसबुक पर घटना का वीडियो अपलोड करने को कहा। दूसरी तरफ होटल मालिक जुगल ने कहा कि हो सकता है कि जिसे वो छिपकली कह रहे हो वो फ्राई मिर्च हो। परिवार के लोगों ने बच्‍चों को दुर्गागंज चौराहे पर स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मामूली उपचार करके छुट्टी दे दी।

इस तरह की घटनाएं पहले भी कई बार सामने आ चुकी है। लेकिन कई बार ये जानना बड़ा ही मुश्किल हो जाता है कि ये घटना सच में हुई है या फिर कोई सिर्फ झूठ फैला रहा है। दरअसल, जुलाई महीने में 70 साल के सुरेंद्र पाल नाम के बुजुर्ग ने फ्री का खाना खाने के लिए रेलवे के खाने में कभी छिपकली तो कभी कोई और कीड़े निकलने की शिकायत रेलवे की की। लेकिन जब रेलवे ने इसकी जांच की तो पाया कि सुरेंद्र फ्री का खाना खाने के लिए ऐसा किया करता था।

रेलवे के खाने में बुजुर्ग को मिली छिपकली, जांच में सामने आई ऐसी सच्चाई कि अधिकारियों के उड़े होश

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned