OMG! अब तक इस गांव में नहीं पहुंची है बिजली, लोग इस तरह जी रहे हैं अपना जीवन

OMG! अब तक इस गांव में नहीं पहुंची है बिजली, लोग इस तरह जी रहे हैं अपना जीवन

Prakash Chand Joshi | Updated: 14 Jun 2019, 03:42:58 PM (IST) हॉट ऑन वेब

  • लोग बिना बिजली के हैं परेशान
  • इतने सालों से अब तक नहीं आई बिजली
  • लोगों ने उठाया ये कदम

नई दिल्ली: मौसम गर्मी का है ऐसे में गर्मी लगना लाजमी है। लेकिन हम लोगों के पास विकल्प है पंखा, कूलर और एसी का। अपनी क्षमता अनुसार लोग गर्मी से बचने के लिए पंखे, कूलर या फिर एसी ( Air Conditioner ) का सहारा लेते हैं। लेकिन क्या आपने कभी उन लोगों के बारे में सोचा है जिनके पास कूलर-पंखा तो छोड़िए बिजली ही नहीं है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि देश के आजाद होने के इतने सालों बाद भी छत्तीसगढ़ ( Chhatisgarh ) के त्रिशूली गांव में आज भी बिजली नहीं है। अब जरा सोचिए क्या हाल होता होगा यहां रहने वाले लोगों का और वो भी इतनी गर्मी भरे मौसम में।

 

chhatisgarh

सूरज ढलने के बाद नहीं कर सकते पढ़ाई

यहां रहने वाले लोगों ने बिजली ( electricity ) की समस्या को लेकर कलेक्टर को चिट्ठी लिखी है। इस पत्र में उन्होंने गांव में बिजली लगाने का अनुरोध किया है। इस गांव में लगभग 100 घर हैं। इन सभी लोगों का कहना है कि आज तक हमारे गांव में बिजली नहीं पहुंची। साथ ही उनका ये भी कहना है कि बिजली न होने के कारण हमारे बच्चे सूरज ढलने के बाद पढ़ाई नहीं कर सकते। ऐसे में इस बात में कोई दोराए नहीं कि यहां के लोग अपना जीवन किस तरह जी रहे हैं।

किया गया है ये वादा

इस मामले को लेकर कलेक्टर की तरफ से कहा गया है कि इस गांव में बिजली जल्द ही आ जाएगी। बलरामपुर के जिला कलेक्टर संजीव कुमार झा का कहना है कि बिजली के लिए त्रिुशूली गांव में सर्वे किया गया है। साथ ही सीएम माजरा टोला विद्युतीकरण योजना के तहत त्रिशूली गांव में जल्द ही बिजली आ जाएगी। लोगों की मुसीबत को लेकर भले ही कलेक्टर ने कहा कि गांव में जल्दी ही बिजली आ जाएगी। लेकिन कई सवाल अब भी पहले जैसे ही बने हुए हैं कि आखिर अब तक इस गांव में बिजली क्यों नहीं पहुंची? आखिर गांव वालों को बिना बिजली के जीवन क्यों जीना पड़ रहा है? शायद इन सवालों के जवाब किसी के पास नहीं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned