Punjab का 'कोरोना मॉडल' जिसकी PM Modi भी कर रहे हैं तारीफ, जानें क्या है खास?

बीते मंगलवार को सभी राज्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग(video conferencing) के ज़रिये हुई बैठक में PM ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief minister of Punjab) के 'कोरोना मॉडल' की तारीफ की। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री Narendra Modi ने सभी राज्यों से कहा कि Corona Virus संक्रमण के खिलाफ पंजाब जिस तरह से लड़ रहा है, वह मॉडल सबको अपनाना चाहिए।

By: Vivhav Shukla

Published: 17 Jun 2020, 04:18 PM IST

नई दिल्ली। देश में कोरोना (Coronavirus) का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ताजे आक़ड़ों के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3.5 लाख से अधिक हो चुकी है। वहीं 12 हजार के करीब लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि कई ऐसे राज्य हैं जिन्होंने कोरोना (Corona in Punjab) पर लगाम लगाने में थोड़ी सफलता जरूर मिली है। इन राज्यों में एक नाम पंजाब का भी है।

बीते मंगलवार को सभी राज्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग(video conferencing) के ज़रिये हुई बैठक में PM ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief minister of Punjab) के 'कोरोना मॉडल' की तारीफ की। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री Narendra Modi ने सभी राज्यों से कहा कि Corona Virus संक्रमण के खिलाफ पंजाब जिस तरह से लड़ रहा है, वह मॉडल सबको अपनाना चाहिए।

वैज्ञानिकों का दावा- ‘Vaccine लेने के बाद भी बना रहेगा Corona का खतरा

ताजे आंकड़ों के मुताबिक पंजाब (Corona In punjab) में कुल 3,371 केस हैं, जिनमें से 2,461 रिकवर हो चुके हैं यानी 1000 से कम एक्टिव केस हैं। वहीं राज्य में करीब 75 मौतें हो चुकी हैं। लेकिन अब राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लग रहा है। जिसकी सबसे बड़ी वजह Punjab का 'कोरोना मॉडल' है।

क्या है Punjab का 'कोरोना मॉडल'?

दरअसल, पंजाब सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए घर-घर में सर्विलांस का तरीका अपना रही है। इसके लिए पंजाब सरकार ने बकायदा एक मोबाइल ऐप भी लांच किया है। अपने सर्विलांस की मदद से CM अमरिंदर (Amarinder Singh) ने पंजाब में संक्रमण को काफी कन्ट्रोल किया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के नांदेड़ से पंजाब लौटे हजारों श्रद्धालुओं के बाद पंजाब में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने लगा। बढ़ते केस को लेकर विपक्षी दलों ने कैप्टन अमरिंदर सरकार को घेरना शुरू कर दिया था। इसके बाद सीएम कैप्टन ने लॉकडाउन को शख्त बना दिया और घर-घर जांच के लिए अभियान शुरू कर दिया।

Brazil के राष्ट्रपति.. जो Corona में हो रही मौत को नियति मानते हैं

इसके लिए CM ने एक APP भी जारी किया, जिसका नाम 'घर घर निगरानी' (ghar ghar nigrani app) रखा गया।इस अभियान में पंजाब के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का सर्वेक्षण किया गया। इसके बाद 30 साल से कम उम्र के लोगों का इन्फ्लूएंजा जैसे रोगों को लेकर सर्वे किया गया। जिसके बाद सरकार के पास पूरे चिकित्सा स्थिति की जानकारी आसानी से मिल गई।

इनके अलावा पंजाब में सरकारी लेवल 2 और 3 की सेवाओं में 5000 आइसोलेशन बिस्तरों का इंतज़ाम किया जा चुका है। वहीं हल्के लक्षणों वाले मरीज़ों के लिए राज्य में 15 हज़ार तक बिस्तर लेवल 1 कोविड केयर सेंटरों में उपलब्ध हैं, जिन्हें ज़रूरत पड़ने पर 30 हज़ार तक बढ़ाया जा सकता है।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned