5 बार मौत को चकमा दे चुकी है ये महिला, मौत के नजदीकी अनुभव के बारे में किया खुलासा

एक बार मरने के बाद इंसान दोबारा जिंदा नहीं होता है। हालांकि कई बार इंसान एक से दो बार मर जाता है, इस प्रकार की खबरें आपने भी खूब पढ़ी होगी। लेकिन आज आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे है जो 1 या 2 बार नहीं बल्कि 5 बार मर कर जिंदा हो चुकी है।

By: Shaitan Prajapat

Updated: 13 Nov 2020, 03:32 PM IST

नई दिल्ली। एक बार मरने के बाद इंसान दोबारा जिंदा नहीं होता है। हालांकि कई बार इंसान एक से दो बार मर जाता है, इस प्रकार की खबरें आपने भी खूब पढ़ी होगी। लेकिन आज आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे है जो 1 या 2 बार नहीं बल्कि 5 बार मर कर जिंदा हो चुकी है। 36 साल की एमिली एसर ने यमराज को एक बार नहीं बल्कि कई बार धोखा दिया है। वह घर के गार्डन में काम करते हुए एक हादसे का शिकार हो गई थी। एमिली का कहना है कि इन अनुभवों ने उसे और मजबूत कर दिया है। इस हादसे में एमिली के गर्दन के नीचे का पूरा हिस्सा और उसकी छाती पिघल गई थी। इसमें एमिली 35 प्रतिशत जल गई थी। इतना सब कुछ होने के बाद भी वह सबके सामने एक मजबूत महिला की मिसाल बनकर उभरी है।


35 प्रतिशत जल गया था शरीर
दरअसल, मार्च 2017 में एमिली के साथ बहुत ही दर्दनाक घटना घटी। इसमें उसका शरीर 35 प्रतिशत जल गया था। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि थर्ड डिग्री बर्न के साथ उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। इंडियाना में रहने वाली एमिली पहले पेशे से हेयर स्टाइलिस्ट थी। वह लोगों का मेकअप भी करती थी। इस हादसे ने उसे तोड़कर रख थाा। इसके बाद उसे दुबारा से चलना, बोलना और खाना सीखना पड़ा।

 

यह भी पढ़े :— 600 फीट की ऊंचाई पर युवक ने किया खतरनाक स्टंट, आसमान में खोले सारे कपड़े, तस्वीरें वायरल

 

died 5 times

गर्दन के नीचे का सारा हिस्सा पिघल गया
एक रिपोर्ट के अनुसार, गार्डन में काम करते हुए गैस कैन के विस्फोट में वह गंभीर रूप से घायल हो गई है। इस हादसे के बाद वह चार महीने तक अस्पताल रही। जहां उसकी बॉडी 35 सर्जरीज करनी पड़ी। एमिली को अस्पताल ले जाया गया तब उसकी गर्दन के नीचे का सारा हिस्सा पिघल गया था। उसकी छाती पिघल गई थी। डॉक्टर्स को उसकी पूरी छाती निकालनी पड़ गई। इतना सब कुछ होने के बाद भी उसने हिम्मत नहीं हारी।

पांच बार खो दी थी सांसें
अस्पताल में एमिली ने पांच बार सांसें खो दी थी। लेकिन उसने हर बार अपनी मौत को चकमा दिया। हादसे के इतने समय के बाद अब एमिली अपनी जिंदगी खुलकर जी रही है। उनके पास दो पालतू कुत्ते हैं, जिनके साथ खेलते हुए एमिली का समय बीत जाता है। वो बाहर घूमना और मस्ती करना पसंद करती है। अपनी मौत के नजदीकी अनुभव के बारे में एमिली कहती है कि इस हादसे ने उसे मजबूत बनाया है।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned