World Population Day 2019: हर एक सेकेंड में दुनिया में पैदा होते हैं 4 बच्चे, जानें ऐसी ही 5 रोचक बातें

World Population Day 2019: हर एक सेकेंड में दुनिया में पैदा होते हैं 4 बच्चे, जानें ऐसी ही 5 रोचक बातें

Priya Singh | Publish: Jul, 11 2019 07:00:03 AM (IST) हॉट ऑन वेब

  • World Population Day हर साल 11 जुलाई को मनाया जाता है
  • worldometers के मुताबिक, 770 करोड़ है विश्व की मौजूदा जनसंख्या

नई दिल्ली। हर साल पूरी दुनिया 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस ( World population day ) मनाती है। इस दिन संयुक्त राष्ट्र संघ हर साल कई कार्यक्रम आयोजित करता है। इन कार्यक्रमों को आयोजित करने के पीछे का मकसद यह होता है कि इस दिन लोगों को जनसंख्या बढ़ने के मुद्दों को लेकर जागरूक किया जाए। हर दिवस की तरह इस दिन को भी एक थीम दी जाती है। जनसंख्या का मूल्यांकन करने वाली एजेंसी वर्ल्डओमीटर्स ( worldometers ) के मुताबिक, खबर बनाए जाने तक दुनिया की आबादी 7,716,632,365 बिलियन यानी 770 करोड़ हो चुकी है। इसके मुताबिक, 142 करोड़ की आबादी वाला देश चीन विश्व में सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश है। वहीं 135 करोड़ की जनसंख्या ( population ) को थामे भारत दूसरे नंबर पर है। आइए जानते हैं जनसंख्या से जुड़े 5 फैक्ट्स जो चौंकाने वाले हैं।

world population day

1- worldometers के मुताबिक, हर दिन एक सेकेंड में 4 बच्चे जन्म लेते हैं वहीं एक सेकंड में 2 लोग मर जाते हैं। यानी जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है। जनसंख्या के इतनी तेज़ी से बढ़ने की वजह से माना जा रहा है कि दुनिया में 2050 तक 70 फीसदी आबादी शहरों की ओर रुख कर लेगी।

2- खबर बनाने तक विश्‍व की कुल जनसंख्‍या 7,716,632,365 बिलियन यानी 770 करोड़ हो चुकी है। चीन (142 करोड़) विश्‍व की सबसे ज्‍यादा जनसंख्‍या वाला देश है, जबकि भारत (135 करोड़) दूसरे और अमरीका (32.67 करोड़) तीसरे नंबर पर है।

3- worldometers की मानें तो नाइजीरिया , भारत, कांगो का लोकतांत्रिक गणराज्य, इथियोपिया, पाकिस्तान, तंजानिया, संयुक्त राज्य अमरीका, युगांडा और इंडोनेशिया जैसे देश 2017 से 2050 तक जनसंख्या वृद्धि के लिए सबसे अधिक योगदान देंगे। इसके हिसाब से दुनिया की आधी आबादी 9 देशों में रहेगी।

4- हैरान करने वाली बात यह है कि नाइजीरिया में जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है। फिलहाल, नाइजीरिया जनसंख्या के मामले में 7वें नंबर पर है लेकिन अगर वहां जनसंख्या को कंट्रोल नहीं किया गया तो 2050 से पहले वो तीसरे नंबर पर आ जाएगा।

5- फैक्ट्स की बात करें तो दुनिया में बुजुर्गों की संख्या लगातार बढ़ रही है। विश्व में युवा कम हैं और बुजुर्ग बढ़ गए हैं। माना जा रहा है कि 2050 तक ये संख्या और बढ़ेगी। worldometers के मुताबिक, 1950 में युवाओं की संख्या बुजुर्गों से ज्यादा थी।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned