पड़ोसी राज्यों को गए खानाबदोश मजदूरों से वहीं रहने की अपील

पड़ोसी राज्यों को गए खानाबदोश मजदूरों से वहीं रहने की अपील
-3 मई तक लॉकडाउन रहेगा जारी, कोरोना रोकथाम में जनता करे सहयोग
-जिला प्रभारी मंत्री जगदीश शेट्टर ने कहा
हुब्बल्ली-धारवाड़

By: S F Munshi

Published: 18 Apr 2020, 09:13 PM IST

पड़ोसी राज्यों को गए खानाबदोश मजदूरों से वहीं रहने की अपील
-3 मई तक लॉकडाउन रहेगा जारी, कोरोना रोकथाम में जनता करे सहयोग
-जिला प्रभारी मंत्री जगदीश शेट्टर ने कहा
हुब्बल्ली-धारवाड़
जिला प्रभारी मंत्री जगदीश शेट्टर ने कहा है कि पड़ोसी राज्यों को गए कर्नाटक के खानाबदोश मजदूरों को वे जहां हैं वहीं पर उनको रहने, खाना, कपड़ा, चिकित्सा समेत सभी सुविधाएं मुहैया करने के लिए वहां के प्रशासन से संपर्क कर व्यवस्था की जा रही है। शेट्टर धारवाड़ में मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय सभा भवन में कोरोना वायरस नियंत्रण पर लॉकडाउन के दौरान चिकित्सा व्यवस्थाओं की समीक्षा सभा की अध्यक्षता कर बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की रोकथाम की दिशा में प्रधानमंत्री ने 3 मई तक देश में लॉकडाउन जारी रखने की घोषणा की है। जनता की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए यह कार्रवाई अनिवार्य है। जिले की जनता को अपने घरों से बाहर ना आकर लॉकडाउन को प्रभावी रूप से क्रियान्वयन करने की दिशा में सहयोग करना चाहिए।
21 अप्रेल तक दूध वितरण का विस्तार
शेट्टर ने कहा कि 3 मई तक लॉकडाउन जारी रहने के कारण लोगों को आवश्यक सामान की समस्या नहीं होने की दिशा में संबंधित विभागों को जरूरी कार्रवाई करनी चाहिए। केएमएफ से नि:शुल्क दूध वितरण सुविधा का 21 अप्रेल तक विस्तार किया गया है। जनता को अनुशासन के साथ उसका लाभ उठाना चाहिए। अनाज, खाद्यानों की मांग वाले स्थलों को प्राथमिकता के तहत सूची बनाकर लोगों से संग्रह किए गए अनाज को सभी को पहुंचाने की व्यवस्था करनी चाहिए। किन स्थलों में वितरण हुआ है, और किन किन जगहों में पहुंचाना बाकी है की जानकारी प्रति दिन तैयार कर जन प्रतिनिधियों को भी उसकी एक कॉपी देंगे तो सुविधाएं नहीं मिलने वाले लोगों को खाद्यान पहुंचाना संभव होगा।
शेट्टर ने कहा कि आईएमए चिकित्सकों की सभा बुलाकर जनता के लिए अस्पतालों में ओपीडी सेवा शुरू करने को कहा गया था। इसके बावजूद अभी तक अधिकतर निजी अस्पतालों की ओर से ओपीडी सेवा प्रारम्भ नहीं करने की शिकायतें जनता की ओर से मिल रही हैं। केपीएमई पंजीकृत चिकित्सकों को संपर्क कर सेवा शुरू करने के लिए कहना चाहिए। आयुष चिकित्सक उत्तम सेवा दे रहे हैं। रोगनिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री की बताई आयुष सलाहों को संबंधित विभाग तथा आयुष चिकित्सकों को क्रियान्वयन करना चाहिए। जिले में कोरोना चिकित्सा के लिए आवश्यक सामग्रियों की कमी नहीं होनी चाहिए। चिकित्सकों, नर्स, सहायक कर्मचारियों समेत सफाई कर्मी, पुलिस विभाग समेत आवश्यक सेवाओं में कार्यरत सभी विभागों के अधिकारियों तथा कर्मचारियों के हितों की रक्षा का भी ध्यान रखना चाहिए।
नवलगुंद क्षेत्र के विधायक शंकर पाटील मुनेनकोप्प ने अपने क्षेत्र में के 71 हजार से अधिक राशनकूपन धारकों को राशन वितरण होने के बारे में जानकारी प्राप्त की। स्थानीय तौर पर वितरण सुविधा नहीं हो रहे शिश्विनहल्ली, शिरूर, मंटूर, नागरहल्ली समेत विविध गांवों को लॉकडाउन अवधि में राशन कूपनधारकों के घर को राशन पहुंचाने की व्यवस्था करनी चाहिए।
विधायक प्रसाद अब्बय्या ने कहा कि अपने क्षेत्र के कई मजदूर महाराष्ट्र में मजदूरी के लिए गए हैं। संभव हो तो उन्हें लाने के प्रयास होने चाहिए या फिर कम से कम वहां के जिलाधिकारी से संपर्क कर मजदूरों को खाना, रहने आदि की सुविधा नियमित रूप से मुहैया कराने की व्यवस्था करनी चाहिए। बिड्नाळ, गब्बूर, वीरापुर गली आदि स्थलों से किसानों को अपने खेतों को आवश्यक कार्यों के लिए आने-जाने का पुलिस की ओर से मौका देना चाहिए।
जिलाधिकारी दीपा चोळन ने कहा कि कोरोना पाजिटिव रिपोर्ट आए हुए हुब्बल्ली की मुल्ला ओनी के निवासियों में।प्राथमिक एवं सैकंडरी संपर्क में आए सभी की पहचान की गई है। प्रथम संपर्क में आने वालों को सरकारी क्वारंटाइन, सैकंडरी संपर्क में आने वालों को उनके घर में ही पृथक तौर पर रखा गया है। जिले में 6 50 लोगों का उपचार करने के लिए पूर्व सतर्कता व्यवस्था करने की दिशा में सरकार के आदेश मिले हैं। वास्तविक तौर पर एक हजार बिस्तरों की क्षमता तक लोगों का उपचार करने के लिए आवश्यक तैयारियां कर ली गई हैं। कोरोना पाजिटिव व्यक्तियों के संपर्कितों तथा सांस की समस्या वाले, न्यूमोनिया लक्षण वालों को भी कोविड जांच के दायरे में लाया जा रहा है।
हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर पुलिस आयुक्त आर. दिलीप ने कहा कि औषधि लाने के बहाने बिना वजह घूमने वालों पर रोक लगा दी गई है। एपीएमसी में गतिविधियां नियंत्रण में आ गई हैं।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. बी.सी. सतीश ने कहा कि लॉकडाउन की अवधि में कई व्यक्तिगत कार्य मनरेगा योजना के तहत जारी किए गए हैं। अधिकतर समुदाय गतिविधियां अस्थाई रूप से स्थगित हुई हैं।
किम्स निदेशक डॉ. रामलिंगप्पा अंटरठाणी ने कहा कि किम्स की कोविड प्रयोगशाला में प्रतिदिन 40 से 50 सैंपल की जांच की जा रही है। अब तक 216 से अधिक लोगों के सैंपलों की जांच की गई है। आरएनए एक्सट्रेक्टर स्वयंचालित मशीन से जांच करेंगे तो सौ से ज्यादा सैंपलों की जांच की जा सकती है। कर्नाटक विश्वविद्यालय, डीएनए अनुसंधान केन्द्र आवश्यक सहयोग देने के लिए आगे आया है।
विधायक सी.एम. निंबण्णवर, अरविंद बेल्लद, प्रदीप शेट्टर, जिला पुलिस अधीक्षक वर्तिका कटियार, महा नगर निगम आयुक्त सुरेश इट्नाळ, अपर जिलाधिकारी शिवानंद कराळे, उप पुलिस अयुक्त कृष्णकांत, जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. यशवंत मदीनकर, कि स के डॉ. लक्ष्मीकांत, जिला आयुष अधिकारी डॉ. संगमेश कलहाळ आदि उपस्थित थे।
पांच प्रतिशत की रियायत
महानगर निगम संपत्ति कर जमा करने वालों को 5 प्रतिशत की रियायत दी गई है। जनता को इसका सदुपयोग करना चाहिए। 31 मई तक अपना संपत्ति कर जमा करना चाहिए।
-जगदीश शेट्टर, जिला प्रभारी मंत्री,
....................................................................................................

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned