scriptBJP's defeat in the by-election, victory of the people | उपचुनाव में भाजपा की हार, जनता की जीत | Patrika News

उपचुनाव में भाजपा की हार, जनता की जीत

उपचुनाव में भाजपा की हार, जनता की जीत
-विधायक यूटी खादर ने कहा
मेंगलूरु

हुबली

Published: November 08, 2021 08:23:29 pm

उपचुनाव में भाजपा की हार, जनता की जीत
मेंगलूरु
विधायक एवं पूर्व मंत्री यूटी खादर ने कहा है कि देश में विभिन्न जगहों तथा राज्य में हुए उपचुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है। इसके चलते लोगों के रोष से बचने के लिए पेट्रोल, डीजल पर से कर घटाया गया है। इसके जरिए भाजपा की हार जनता की जीत है।
पत्रकारों से बातचीत करते हुए खादर ने कहा कि आजादी के बाद विकास की चुनौतियों के बीच भी 70 वर्षों में कांग्रेस पार्टी की सरकार ने पेट्रोल के दाम 70 रुपए किया था तो भाजपा ने मात्र सात वर्षों में ही 113 रुपए कर दिया। कार्पोरेट संस्थाओं, उत्पादन क्षेत्र के कर में कटौती कर 1.5 लाख रुपए का घाटा कर इसे लोगों पर डाला है।
वित्त मंत्री ने खुद बयान दिया है कि पेट्रोलियम के दाम पर काबू करना उनके हाथ में नहीं है। अब लोगों के गुस्से से घबरा कर कर में कटौती कर बड़ी उपलब्धि हासिल करने की तरह पेश कर रहे हैं। एशिया के भूटान, श्रीलंका, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल के अलावा चीन में हमसे कम दाम में पेट्रोल, डीजल मिल रहा है। हमारे पास भी दाम घटने के लिए भाजपा को हारना चाहिए।
उपचुनाव में भाजपा की हार, जनता की जीत
उपचुनाव में भाजपा की हार, जनता की जीत
यक्षगान की अनदेखी

उन्होंने कहा कि इस बार राज्योत्सव पुरस्कार देने के दौरान करावली के यक्षगान तथा भरतनाट्य कला के कलाकारों की अनदेखी की गई है। मृदंग विद्वान बाबु राई, प्रथम महिला भागनवती की लीलावती बैपडित्ताय, आलोचक डॉ. प्रभाकर जोशी, साहित्यकार मुहम्मद कुलाई के नाम शुमार नहीं करना सही नहीं है। पूर्व की कांग्रेस सरकार में तत्कालीन मंत्री डीके शिवकुार ने जिले की सभी पंजीकृत कला संस्थाओं को अनुदान दिया था। अब जिले के ही कन्नड़ एवं संस्कृति मंत्री के होने के बाद भी नृत्य संस्थाओं को अनुदान से बाहर रखकर अन्याय किया है।
खादर ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री सिध्दरामय्या के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले नाथूराम गोडसे के समर्थक हैं। उनमें साहस है तो संविधान को बदलें। अंबेडकर अकेले ने ही संविधान को नहीं लिखा कहकर निंदा करने वाले भाजपा नेताओं के खिलाफ प्रदर्शन करें। सूरतकल सर्कल को सावरकर का नाम रखने से पहले भाजपा नेताओं को आत्मावलोकन करना चाहिए। जिले के विकास के लिए योगदान देने वाले श्रीनिवास माल्या, कर्नाड सदाशिव रॉव, बी. जनार्दन पुजारी का नामकरण करने के बारे में विचार करना चाहिए।
संवाददाता सम्मेलन में जिला कांग्रेस महासचिव संतोष कुमार शेट्टी, जकरिया, रहमान, समीर कोटेपुर आदि उपस्थित थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पीएम मोदी आज ब्रह्मकुमारियों के 'आजादी का अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर' अभियान श्रृंखला का शुभारम्भ करेंगेओमिक्रोन वायरस के इलाज में कौन सी दवा है सही, जानिए WHO की गाइडलाइनIND vs SA: साउथ अफ्रीका ने 31 रनों से जीता पहला वनडे, ये है भारत की हार का सबसे बड़ा कारण‘बुल्ली बाई’ ऐप के बाद अब ‘क्लब हाउस’ चैट में मुस्लिम महिलाओं को बनाया निशाना, महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को भेजा नोटिसटोक्यो पैरालंपिक में Gold Medal लाने वाली अवनी लेखारा तक पहुंची खास XUV700, आनंद महिंद्रा ने कहा 'Thank You'Corona Alert: हल्के में ना ले तीसरी लहर... बडे कम्युनिटी स्प्रेड में कोरोना संक्रमणRAJASTHAN विधानसभा का Budget सत्र, भाजपा 'लॉ एंड आर्डर' के मुद्दे पर करेगी 'ATTACK 'छत्तीसगढ़ में लगातार दूसरे दिन कोरोना से 9 मरीजों की मौत, सबसे ज्यादा 5 संक्रमितों की मौत दुर्ग संभाग में, 5625 नए केस मिले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.