संपूर्ण कृषि प्रणाली में मन से लाएं बदलाव

संपूर्ण कृषि प्रणाली में मन से लाएं बदलाव

By: S F Munshi

Published: 01 Mar 2021, 11:50 PM IST

संपूर्ण कृषि प्रणाली में मन से लाएं बदलाव
-कृषि मंत्री बीसी पाटील ने कहा
हुब्बल्ली
कृषि मंत्री बीसी पाटील ने कहा है कि सिर्फ ऋण माफी से ही किसानों का कल्याण नहीं होगा। उनकी फसल के लिए वैज्ञानिक मूल्य दिलाना चाहिए। आधुनिक कृषि उपकरणों को अवगत कराना चाहिए। संपूर्ण कृषि प्रणाली को आत्मसात करने के लिए मन परिवर्तन करना चाहिए।
नवलगुंद तालुक के बेलवटगी में किसानों के साथ एक दिन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री पाटील ने कहा कि मंड्या जिले में संपूर्ण सिंचाई होने पर भी वहां किसानों की आत्महत्या बढ़ी है। अकाल प्रभावित कोलार में यह आंकड़ा कम है। इसके लिए वहां के किसानों की ओर से अपनाई गई संपूर्ण कृषि प्रणाली कारण है। इस तर्ज पर सभी जगह अनुसरण करवाना है। जमीन की रक्षा के साथ संपूर्ण एवं जैविक कृषि पध्दति पर विभाग ने जोर दिया है। जिलों को कृषि संजीवनी वाहन दिए गए हैं। हेल्पलाइन संख्या 155३1३ को कॉल करने पर अन्य समस्याओं का भी समाधान करते हैं। इस वाहन को आगामी दिनों में हर किसान संपर्क केंद्रों को दिया जाएगा।
हलो के बजाए जय किसान कहें।नफोन या मोबाइल फोन पर बात शुरू करने के दौरान हलो के बजाय अन्न देने वाला जय किसान या फिर देश की रक्षा करने वाला जय जवान कहें।
जिला प्रभारी मंत्री जगदीश शेट्टर ने कहा कि महादयी के 1३ टीएमसी पानी को इस्तेमाल करने की योजना के कार्य को रा’य सरकार शीघ्र शुरू करेगी। इससे इस भाग के अकाल प्रभावित तालुकों को सुविधा होगी। जिले के ३88 गांवों के हर घर को मलप्रभा का पानी आएगा, योजना मंजूरी प्रक्रिया अंतिम चरण में है।
उन्होंने कहा कि विधायक शंकरपाटील मुनेनकोप्पा ने मंत्रियों से अधिक कार्य अपने क्षेत्र में किया है। मुनेनकोप्प क्षेत्र के कार्य को मंत्रियों तथा अधिकारियों के पीछे लग कर करवाते हैं। इसलिए नवलगुंद तालुक में अधिक विकास कार्य हुए हैं।
विधायक शंकरपाटील मुनेनकोप्प ने कहा कि तालुक के मोरब, कोलिवाड तथा बैहट्टी में भी चना खरीदी केंद्र शुरू किया गया है। किसानों के खेत तथा घरों को मलप्रभा नदी पानी बहाने का कार्य शुरू किया गया है। नवलगुंद तथा अण्णिगेरी में शीघ्र प्रांत कार्यालय का उद्घाटन किया जाएगा।
इस अवसर पर कृषि जानकारी तथा विभिन्न योजनाओं की जानकारी के पोस्टरों का विमोचन किया। तालुक स्तरीय कृषि पुरस्कार प्राप्त किसान दंपती को दस हजार रुपए नकद तथा स्मरणिका देकर सम्मानित किया गया।
जिला पंचायत की अध्यक्ष विजयलक्ष्मी पाटील, उपाध्यक्ष शिवानंद करिगार, कृषि विभाग आयुक्त ब्रिजेश कुमार दीक्षित, अतिरिक्त आयुक्त दिवाकर, निदेशक बीवाई श्रीनिवास, कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एमबी चेट्टी, जिलाधिकारी नितेश पाटील, पूर्व विधायक एसआई चिक्कनगौडर, जिला कृषक समाज के अध्यक्ष बसवराज कुंदगोलमठ, अलगवाडी जिला पंचायत सदस्य अंदानप्पा बसलिंगय्या हिरेमठ, नवलगुंद तालुक पंचायत की अध्यक्ष अनन्नपूर्णा बसय्या शिरहट्टिमठ, उपाध्यक्ष कल्लप्पा हुब्बल्ली आदि उपस्थित थे।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned