केंद्र सरकार ने आरबीआई को अस्थिर किया

केंद्र सरकार ने आरबीआई को अस्थिर किया
-पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा ने लगाया आरोप
हुब्बल्ली

By: Zakir Pattankudi

Published: 07 Mar 2020, 08:02 PM IST

केंद्र सरकार ने आरबीआई को अस्थिर किया
हुब्बल्ली
जद एस सुप्रिमो एवं पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने कहा कि संप्रग की सरकार दस वर्ष तक सत्ता में रही, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी छह वर्ष तक प्रधानमंत्री रहे।
शहर के गोकुल रोड वासवी महल में शनिवार को जद एस कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण कार्यशाला को संबोधित करते हुए देवेगौड़ा ने कहा कि इनके कार्यकाल में आरबीआई स्वतंत्र था। वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सरकार में आरबीआई को अस्थिर किया गया है। पहले से यह एक स्वायत्त संस्था है। आरबीआई में केंद्र सरकार की हिस्सेदारी बड़े दुर्भाग्य की बात है। पूर्व के आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने केंद्र सरकार को हस्तक्षेप का मौका नहीं दिया था।
उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को योग्यता नहीं होने पर भी ऋण देकर बैंक का दुरुपयोग किया है। संप्रग सरकार के कार्यकाल में तथा मौजूदा सरकार ने बहुत सारे अयोग्यों को ऋण दिया है। इस के चलते आज बैंक आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं। नोटबंदी के दौरान कई अनियमितताएं हुई हैं। बैंकों ने कुछ उद्यमियों को उनकी संपत्ति से अधिक ऋण दिया है। कुछ वित्तीय सलाहकार ही इस्तीफा देकर चले गए।

रमेश बाबु के इस्तीफे पर कुछ नहीं कहेंगे

देवेगौड़ा ने कहा कि रमेश बाबु के जद एस से इस्तीफा देने के बारे में वे कुछ नहीं कहेंगे। इस बारे में रमेशबाबु ने ही बयान दिया है। बतौर निर्दलीय चुनाव लडेंगे या फिर किसी पार्टी में शामिल होंगे वही फैसला लेंगे। इस बारे में हम कुछ नहीं कहेंगे।
शहर में जद एस सुप्रिमो एचडी देवेगौड़ा के नेतृत्व में दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है। इस कार्यशाला में मुम्बई कर्नाटक के सात जिलों के जद एस कार्यकर्चाओं ने भाग लिया है। उत्तर कर्नाटक में पार्टी को मजबूत करने, आगामी विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी को तैयार करने के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया है। कार्यशाला में दो पुस्तकों का विमोचन किया गया। उत्तर कर्नाटक के लिए देवेगौड़ा का योगदान तथा जानेमाने साहित्यकार देवनूर महादेव की ओर से लिखित ईग भारत मातनाडुत्तिदे (अब भारत बात कर रहा है) पुस्तकों का विधान परिषद सदस्य बसवराज होरट्टी ने विमोचन किया।

Zakir Pattankudi Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned