मुख्यमंत्री को फिजूल खर्च पर रोक लगाना चाहिए

मुख्यमंत्री को फिजूल खर्च पर रोक लगाना चाहिए
-पूर्व मंत्री एच. विश्वनाथ ने दी सलाह
धारवाड़

By: S F Munshi

Published: 07 Mar 2020, 08:22 PM IST

मुख्यमंत्री को फिजूल खर्च पर रोक लगाना चाहिए
धारवाड़
पूर्व मंत्री एच. विश्वनाथ ने कहा है कि राज्य के मुख्यमंत्री, मंत्रियों तथा आईएएस अधिकारियों को फिजूल खर्च करने से परहेज करना चाहिए। वे धारवाड़ में शनिवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरिवाल ने अपने राज्य की जनता को बिजली, पानी तथा परिवहन सुविधाएं नि:शुल्क उपलब्ध की हैं। इस प्रकार के जनहित कार्यों के बारे में हमारी राज्य सरकार को भी ध्यान देने की आवश्यकता है।
विश्वनाथ ने कहा कि राज्य और राष्ट्र की आर्थिक स्थिति को देखते हुए राज्य के बजट का विश्लेषण करने की जरूरत है। सरकार के विचारों को सच्चाई के तौरपर बताना है। राज्य की आर्थिक स्थिती घटने के बावजूद राजनेताओं की आर्थिक ताकत बढ़ रही है। बजट के दिन ही मंत्री श्रीरामुलु की पुत्री का विवाह हुआ। कुल 7 दिन तक बल्लारी से बेंगलूरु तक विवाह कार्यक्रम आयोजित किए गए। दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी के पुत्र के विवाह तैयारियां चल रही हैं। इसके लिए 50 एकड़ क्षेत्र में पेंडाल का निर्माण किया जा रहा है। निखिल कुमारस्वामी की सगाई के लिए विदेश से मालाएं मंगवाई गई।
विश्वनाथ ने कहा कि अमीरों को इस प्रकार के फजुल खर्चों पर अंकुश लगाने की आवश्यकता है। राज्य सरकार की ओर से ढ़ाई लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया है। राज्य सरकार पर डेढ लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। क्या सरकार को एक ऋण का ब्याज देना सम्भव हो पाएगा? अधिकारियों तथा कर्मचारियों के वेतन के लिए 24 हजार करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं। आज जनता को सच बताने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री बी.एस. येडियूरप्पा ने कुछ सच्चाइयों के नजदीक जाकर बात की है। एक तरफ ऋण का बोझ अधिक हो रहा है तो दूसरी ओर बजट का बोझ भी अधिक हुआ है।


..............................................................................

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned