खतरनाक है कोविड द्वितीय लहर, सतर्कता बरतें

खतरनाक है कोविड द्वितीय लहर, सतर्कता बरतें

By: S F Munshi

Published: 06 May 2021, 04:02 PM IST

खतरनाक है कोविड द्वितीय लहर, सतर्कता बरतें
-जिला प्रभारी मंत्री शशिकला जोल्ले ने कहा
विजयपुर
जिला प्रभारी मंत्री शशिकला जोल्ले ने कहा है कि कोविड द्वितीय लहर खतरनाक है, इसके चलते लोगों को सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। संबंधित अधिकारियों को इस दिशा में ध्यान देते हुए आमजन में जागरूकता पैदा करनी चाहिए।
वे विजयपुर जिले के इंडी मिनी विधान सौध स्थित तहसीलदार कार्यालय सभा भवन में कोविड संक्रमित रोग नियंत्रण को संबंधित समीक्षा बैठक को संबोधित कर रही थी।
उन्होंने कहा कि कोविड की द्वितीय लहर तेजी से फैल रही है। छोटे बच्चों तथा युवकों इस संक्रमण का शिकार हो रहे हैं। इसके चलते सभी को मास्क पहन कर सामाजिक दूरी बनाए रखने की आवश्यकता है। सैनिटाइजर या साबून का नियमित इस्तेमाल करना चाहिए। इस दिशा में स्वास्थ्य विभाग की ओर से लोगों में जागरूकता पैदा करने का कार्य निरंतर होता रहना चाहिए।
जोल्ले ने कहा कि इंडी सरकारी अस्पताल में 77 बेड हैं। 45 आक्सीजन बेड हैं तथा 2 वेंटिलेटर की सुविधा वाले बेड हैं। जारी कोविड संक्रमितों की जानकारी के आधार पर बेडों की उपलब्धता की जानकारी संग्रह कर मेनेज्मेंट पोर्टल में जारी करना चाहिए। रोगियों को किसी प्रकार की बेडों की समस्या नहीं हों इस बात का चिकित्सकों को ध्यान रखना चाहिए।
कोविड रोगियों को मात्र टीका
जिला प्रभारी मंत्री जोल्ले ने कहा कि सरकारी तथा निजी अस्पतालों के रेमडिसिवर टीके आए हैं। जिले को मांग के अंतर्गत निजी तथा सरकारी अस्पतालों को टीकों का वितरण किया गया है। इसकी कमी को पूरी करने की दिशा में नियमित प्रयास किए जा रहे हैं। कोविड पाजिटिव रोगियों को मात्र इस टीके को लगाने के लिए चिकित्सकों को निर्देश दिए गए हैं।
उन्होंने कहा कि इंडी तालुक के प्रथम चरण के टीकाकरण में 35 हजार 536 लोगों ने टीका लगवाया है। द्वितीय चरण में 13 हजार 315 जनों ने टीकाकरण करवाया है। गत 3 मई तक 9 कोविड रोगियों की मृत्यु हुई है। शीघ्र ही रेमडिसीवर टीके आपूर्ति किए जाएंगे। ग्रामीण क्षेत्र लोगों को किसी प्रकार की समस्या ना हो इस बात पर गौर करना चाहिए। बल्लारी से सप्ताह में दो बार एलएमओ प्राप्त किया जा रहा है। हर बार करीब 13 केएल आक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। फिलहाल 13 केएल एलएमओ को 1400 आक्सीजन सिलेंडरों के रूप में परिवर्तित किया जा रहा है। प्रति दिन 400 सिलेंडरों को कुलकर्णी आक्सीजन एजेंसी से, बाकी निजी अस्पतालों को तथा तालुक अस्पताल को आपूर्ति की जा रही है।
विधायक यशवंतगौडा पाटील ने कहा कि तालुक सरकारी अस्पतालों में बेड, आक्सीजन तथा व्याक्सीन की आपूर्ति करने के लिए जिला प्रभारी मंत्री शशिकला जोल्ले ने मांग की। चिकित्सक लोगों को प्रभावी उपचार करना चाहिए।
बैठक में विधान परिषद सदस्य अरुण शहापुर, जिला पुलिस अधीक्षक अनुपम अगरवाल, उप विभागीय अधिकारी राहुल शिंधे, जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. कोळेकर, जिला एवं तालुक स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned