गोवा में खनन की अनुमति देने की मांग

गोवा में खनन की अनुमति देने की मांग

By: S F Munshi

Published: 20 May 2021, 08:26 PM IST

गोवा में खनन की अनुमति देने की मांग
पणजी
खनन पर निर्भर इकाइयों के शीर्ष संगठन गोवा माइनिंग पीपुल्स फ्रंट ने कहा है कि भीषण चक्रवाती तूफान ताउते से हुए विध्वंस से राज्य की दिक्कतें और बढ़ गई है। ऐसे में संगठन उच्चतम न्यायालय से गोवा में खनन की तत्काल अनुमति देने की अपील की है।
गौरतलब है कि वर्ष 2018 में उच्चतम न्यायालय के खनन के 88 पट्टे रद्द करने के साथ गोवा में खनन पर रोक लग गई थी।
संगठन ने एक बयान में कहा कि गोवा माइनिंग पीपुल्स फ्रंट (जीएमपीएफ) के तत्वाधान में गोवा के ग्राम पंचायतों ने उच्चतम न्यायालय से राज्य में खनन को तत्काल बहाल करने की अपील की है क्योंकि राज्य एक बुरी स्थिति और असाधारण परिस्थितियों का सामना कर रहा है।
दक्षिण गोवा की रिवोना पंचायत के सरपंच सूर्य नाइक ने कहा कि हाल में आए चक्रवात से गोवा में विध्वंस हुआ और लोगों को काफी नुकसान उठाना पड़ा।
उन्होंने कहा कि हमें लगता है कि खनन तत्काल बहाल करना लोगों की जिंदगियों को दोबारा पटरी पर लाने के लिए बेहद जरूरी है।
जीएमपीएफ के अध्यक्ष पी गांवकर ने कहा कि कोविड महामारी की दूसरी लहर ने गोवा के लोगों की दिक्कतें और बढ़ा दीं और राज्य के लोग खासकर खनन क्षेत्रों में रहने वाले लोग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। उन्हें भोजन एवं दवाइयों जैसी बुनियादी जरूरतें पूरी करने में दिक्कत हो रही है।
उन्होंने कहा कि इसलिए विभिन्न समुदाय के हितों को ध्यान में रखते हुए राज्य में खनन तत्काल बहाल करने के अंतरिम निर्देश से लोगों को राहत मिलेगी।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned