जिले के अधिकारियों का भाग लेना अनिवार्य

जिले के अधिकारियों का भाग लेना अनिवार्य

By: S F Munshi

Published: 06 Jan 2021, 06:44 PM IST

जिले के अधिकारियों का भाग लेना अनिवार्य
-जन्म-मृत्यु पंजीयन पर जिला स्तरीय त्रैमासिक बैठक 15 से
सिरसी-कारवार
जिलाधिकारी डॉ. हरीश कुमार ने कहा है कि जन्म-मृत्यु पंजीयन तथा ई-जन्म साफ्टवेयर रखरखाव संबंधित 15 जनवरी से प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाएगा। संबंधित जिले के अधिकारियों को बिना कोई कारण बताए प्रशिक्षण शिविर में भाग लेना अनिवार्य है। वे कारवार में जिलाधिकारी कार्यालय सभा भवन में जन्म-मृत्यु पंजीयन संबंधित जिला स्तरीय समन्वय समिति की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता कर बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि राज्य भर में जन्म-मृत्यु पंजीयन कार्य ई-साफ्टवेयर में चल रहा है। इसके चलते साफ्टवेयर के रखरखाव संबंधित 15 जनवरी जिले में प्रशिक्षण शिविर आयोजित करने से जन्म-मृत्यु पंजीयन तथा ई-जन्म साफ्टवेयर के रखरखाव के दायरे में आने वाले ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, ईओ, ग्राम लेखाधिकारी तथा डाटा-एंट्री आपरेटरों का प्रशिक्षण में भाग लेना अनिवार्य है। साथ में सभी को कोविड रोकथाम नियमों का पालन करना चाहिए।
जिलाधिकारी ने कहा कि डाटाएंट्री आपरेटर ई-जन्म साफ्टवेयर में जन्म-मृत्यु पंजीयन के दौरान एंट्री किए गए डाटा को पंजीयन अधिकारियों की ओर से अच्छे से समीक्षा करने के पश्चात ही अनुमति देनी चाहिए। सरकारी तथा निजी अस्पतालों के चिकित्सकों तथा मृत्यु का कारण चिकित्सकीय प्रमाण पत्रों को बेंगलूरु स्थित जन्म-मृत्यु के मुख्य पंजीयन अधिकारियों को सौंपना अनिवार्य है। जन्म-मृत्यु परमाणपत्रों को अनिवार्य रूप से डिजिटल हस्ताक्षर के साथ जनता को वितरित करने चाहिए।
विविध विभागों में समन्वय जरूरी
जिलाधिकारी ने कहा कि डीएससीएक्सपायर होने से पूर्व ही नवीकरण करने की व्यवस्था करनी चाहिए। जन्म-मृत्यु पंजीयन कार्य व्यवस्थित रूप से करने की दिशा में जिले के विभिन्न विभागों में समन्वय होना बेहद जरूरी है। पंजीयन कार्य 100 प्रशित उत्तम करने के उद्देश्य से सरकार तालुक स्तरीय समन्वय समिति गठित की है। यह समिति प्रति माह बैठक बुलाकर जन्म-मृत्यु घटनाएं नहीं छूटें तथा शतप्रतिशत पंजीयन होने की दिशा में ठोस कदम उठाने चाहिए। जन्म-मृत्यु पंजीयन तथा प्रमाणपत्र देने संबंधित संग्रह किया गया शुल्क राजस्व लेखा विभाग में जमा करना चाहिए। वर्ष 2021 वें वर्ष के जन्म-मृत्यु खाली आवेदनों की आपूर्ति की गई है। और फार्मों की आवश्यकता पडने पर संबंधित कार्यालय से मांग कर प्राप्त करलेने चाहिए।
बैठक में अपर जिलाधिकारी कृष्णमूर्ति एच.के., जिला पंचायत सीईओ प्रियांगा एम., उप विभागीय अधिकारी विद्याश्री चंदरगी, विभिन्न विभागों के जिला एवं तालुक स्तरीय अधिकारी तथा कर्मचारियों ने भाग लिया था।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned