दिहाड़ी मजदूरों के विश्राम के लिए छात्रावास

दिहाड़ी मजदूरों के विश्राम के लिए छात्रावास

Zakir Pattankudi | Publish: Jul, 23 2019 07:38:06 PM (IST) Hubli, Dharwad, Karnataka, India

दिहाड़ी मजदूरों के विश्राम के लिए छात्रावास
-महानगर निगम ने लिया फैसला
हुब्बल्ली

दिहाड़ी मजदूरों के विश्राम के लिए छात्रावास
हुब्बल्ली
दैनिक मजदूरी की तलाश में दूसरे गांवों से हुब्बल्ली आने वाले मजदूरों के विश्राम के लिए जेसी नगर के टाउन हाल के पीछे महानगर निगम ने छात्रावास निर्माण का फैसला लिया है।
पंडित दीनदयाल अंत्योदय-राष्ट्रीय नगर जीवन योजना (नल्म) के तहत भवन निर्माण के लिए सरकार ने 40 लाख रुपए का अनुदान मंजूर किया है, जिसमें 16 लाख रुपए जारी हुए हैं। रोजगार की तलाश में आने वाले मजदूरों के रात्रि वापस गांव नहीं लौट पाने की सूरत में यहां विश्राम कर सकते हैं।
निर्माणाधीन भवन में 63 जने एक साथ विश्राम सकते हैं। मूलभूत सुविधाएं जैसे बिजली, पानी, शौचालय निर्माण किया जाएगा। बेड, बेडशीट दिया जाएगा। दो सुरक्षा कर्मियों को नियुक्त किया जाएगा। संपूर्ण निगरानी के लिए एक प्रबंधक को नियुक्त किया जाएगा।

सिध्दारूढ़मठ के पास स्थानांतरित करने का विचार

बंकापुर चौक के पास इंदिरा नगर स्थित समुदाय भवन में अस्थाई तौर पर नगर आवास रहितों को आश्रय उपलब्ध किया गया है। यहां प्रति दिन रात्रि 15 से 20 जने विश्राम कर रहे हैं। उन्हें सभी सुविधाएं उपलब्ध की गई हैं। जमखंडी की जय भीम संस्था इसका रखरखाव कर रही है। यहां रुकने वालों को स्थानीय निवासियों से कुछ समस्याएं होने से सिध्दारूढ़मठ के पास स्थानांतरित करने के बारे में अधिकारी विचार कर रहे हैं।

मठ प्रशासन मंडल के साथ भी चर्चा की

महानगर निगम अधिकारी ने बताया कि रोजगार की तलाश में शहर आने वाले रात्रि के समय अधिकतर पुराने बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन तथा सिध्दारूढ़मठ के पास ठहरते हैं। रात्रि 10 से सुबह 4 बजे तक समीक्षा कर ऐसों की जानकारी संग्रह करते रहते हैं। सिध्दारूढ़मठ में भोजन, नाश्ता मिलने से अधिकतर वहीं रात्रि विश्राम करते हैं। इसके चलते इंदिरा नगर स्थित छात्रावास को सिध्दारूढ़मठ के पास स्थानांतरित करने का फैसला लिया गया है। इस बारे में मठ प्रशासन मंडल के साथ भी चर्चा की गई है।

माह में कार्य आरम्भ होगा

एक साख आबादी वाले शहरी क्षेत्र को पलायन कर आने वालों को आवास व्यवस्था उपलब्ध करने के उच्चतम न्यायालय के निर्देश हैं। इसके तहत छात्रावास निर्माण की फैसला लिया है। नगर आवास रहितों को आवास उपलब्ध करने के लिए नए भवन का निर्माण करने के लिए अनुमति मिल चुकी है शीघ्र ही भवन निर्माण किया जाएगा। भवन निर्माण की जगह पर तीन बड़े पेड़ होने से कार्य आरम्भ करना संभव नहीं हो पा रहा है। इस बारे में वन विभाग को महानगर निगम के अधिकारियों ने पत्र लिखा है। पेड़ काटने के लिए निविदा भी आमंत्रित की गई है। माह में कार्य आरम्भ होगा।
-रमेश नूल्वी, योजना अधिकारी, नल्म

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned