त्योहार सिर्फ आचरण तक ना रहें सीमित

त्योहार सिर्फ आचरण तक ना रहें सीमित

By: S F Munshi

Published: 15 Jan 2021, 10:22 AM IST

त्योहार सिर्फ आचरण तक ना रहें सीमित
-विद्यार्थियों के संग मनाया मकर संक्रांति पर्व
हुब्बल्ली-धारवाड़
जेएसएस शिक्षा संस्था के वित्त अधिकारी डॉ. अजित प्रसाद ने कहा है कि त्योहारों को सिर्फ आचरण तक सीमित नहीं रहना चाहिए।
वे धारवाड के जेएसएस श्रीमंजुनाथेश्वर सेंट्रल स्कूल में आयोजित संक्रांति संभ्रम कार्यक्रम का उद्घाटन कर बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि भारतीयों की ओर से मनाए जाने वाले हर त्योहार के वैज्ञानिक कारण हैं। हमारे बुजुर्ग समय और मौसम के अंतर्गत त्योहारों को मनाते आए हैं। उस समय पर सेवन किए जाने वाले आहार को उस पर्व में सेवन करने की आदत डालकर मनुष्य के स्वास्थ्य को प्राकृतिक रूप से बनाए रखने की शक्ति तलाशी है। मौजूदा दौर में त्योहार अपना महत्व खो रहे हैं तथा आचरण तक मात्र सीमित हो रहे हैं।
जेएसएस सेंट्रल स्कूल की प्राचार्य एस. साधना ने कहा कि स्कूलों में इस प्रकार त्योहारों को मनाकर बच्चों को उसके महत्व के बारे में बताने का कार्य होना चाहिए। कोविड के अवकाश के मौके पर हमारे स्कूल शिक्षकों ने स्वयं रथ, झौंपडपट्टी, प्राणियों के कटाउट आदि का निर्माण किया है। छुट्टियों का धनात्मक रूप से उपयोग किया है। विद्यार्थियों को हमें पाठ्य के साथ अन्य विषयों के बारे में भी बताना चाहिए। इससे मात्र विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास संभव है।
रथ पर सवार सूर्यदेव, गंगा पूजा करते किसान, बच्चों के संग त्योहार मनाने के दृश्य अत्यंत मनमोहक थे। इस अवसर पर आईटीआई कालेज के प्राचार्य महावीर उपाध्य, रैपिड संस्था की वाणी पुरोहित, शिक्षक व कर्मचारी मौजूद थे।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned