जीवन जीने की कला सिखाता है गीता ज्ञान

जीवन जीने की कला सिखाता है गीता ज्ञान

By: S F Munshi

Published: 28 Dec 2020, 07:47 PM IST

जीवन जीने की कला सिखाता है गीता ज्ञान
इलकल (बागलकोट).
कस्बे के श्री विजय महांतेश संस्थानमठ के प्रमुख गुरूमहांतस्वामी ने कहा है कि मनुष्य को सदैव अच्छे कार्य करते रहना चाहिए। किसी पर उपकार करते समय फल की अपेक्षा नहीं रखनी चाहिए। बिना फल की अपेक्षा से किया गया अच्छा कार्य पुण्य का होता है और किसी का बुरा करते हैं तो वह पाप है।
वे यहां के जीवेश्वर मंगल भवन में अध्यात्म मण्डल व डॉ. सुभाष काखण्डकी नेत्र अस्पताल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित डॉ. सुभाष काखण्डकी की ओर से रचित गीता सारांश पुस्तक के विमोचन समारोह में व्याख्यान दे रहे थे। उन्होंने कहा कि गीता मार्गदर्शन करने के साथ जीवन जीने की कला सिखाती है।
मुख्य अतिथि विधान परिषद में विपक्ष के नेता एस.आर. पाटील ने कहा कि भगवत गीता सारांश पुस्तक लोगों के हृदय तक पहुंचनी चाहिए। गीता में कर्म को विशेष महत्व दिया गया है। अखिल भारतीय मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राज्याध्यक्ष उस्मानगनी हुमनाबाद ने कहा कि सभी धर्मों का सारांश एक ही है। सभी धर्मों में सत्य, अहिंसा, दया का महत्व बताया गया है।
कुष्टगी के विधायक अमरेगौड बय्यापुर ने कहा कि जीवन में सुख दु:ख आते और जाते रहते हैं। दु:ख के समय में निराश होने की अपेक्षा हि?मत से काम लेना चाहिए। कुछ कर दिखाने की दृढ़ता होनी चाहिए। विधान परिषद के पूर्व सदस्य डॉ. मल्लनगौड नाडगौड ने कहा कि वचन साहित्य, भगवतगीता, बाइबल, कुरान में मनुष्य का जीवन किस प्रकार का होना चाहिए कि सीख दी गई है। पुस्तकों में मनुष्य को सुधारने की शक्ति है।
गीता सारांश पुस्तक के रचयिता डॉ. सुभाष काखण्डकी ने प्रासंगिक विचार व्यक्त करते हुए कहा कि इस छोटी सी पुस्तक में गीता का सारांश है। इस पुस्तक के अध्ययन से जीवन में परिवर्तन हो सकता है। मंच पर डॉ. जगदीश बैरगौण्डनवर, डॉ. नारायण वनकी, डॉ. शंभू बलीगार, अरुण बिज्जल, टी.एच. कुलकर्णी, अब्दुल हकीम, पाण्डुरंग कुलकर्णी, डॉ. वनजा नरसापुर मौजूद थे।
वैष्णवी कुलकर्णी व डॉ. लक्ष्मी काखण्डकी ने प्रार्थना प्रस्तुत की। डॉ. चामराज याळगी ने भगवतगीता का पारायण किया। डॉ. सुशील काखण्डकी ने स्वागत किया। शिक्षक संगण्णा गद्दी ने संचालन किया। अंत में सेवानिवृत्त प्राचार्य एस.के. कुलकर्णी ने आभार जताया।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned