50 हजार लोगों पर पहरा

50 हजार लोगों पर पहरा
हुब्बल्ली

By: Zakir Pattankudi

Published: 23 Apr 2020, 02:10 PM IST

50 हजार लोगों पर पहरा
हुब्बल्ली
कोरोना संक्रमण पाए गए शहर के मुल्ला ओणी तथा कराडी ओणी समेत कन्टेनमेंट क्षेत्र के मुख्य भाग में सीलडाउन जारी होने से लगभग 50 हजार लोग पुलिस के पहरे में दिन गुजार रहे हैं।
दिल्ली, मुंबई जाकर आए 27 वर्षीय युवक, इसका 37 वर्षीय भाई समेत एक ही परिवार के पांच जनों में कोरोना की पुष्टि हुई है। कहीं भी नहीं गए कब्रिस्तान के पहरेदार कराडी ओणी निवासी वृध्द को भी कोरोना की पुष्टि होने से इस इलाके के 100 मीटर के आवासीय क्षेत्रों को सील डाउन कर सरकार ने आदेश जारी किया है।
मुल्ला ओणी के 350, कराडी ओणी के एक हजार घर समेत लगभग 50 हजार लोग इस आदेश के दायरे में आते हैं, जिन्हें बिना अनुमति के दस कदम भी कहीं जाने का मौका नहीं है। इन सबको जरूरत के सामान वितरित करने के लिए कुछ लोगों को पास देकर बेचने के निर्देश दिए गए हैं। सीलडाउन क्षेत्र के लोग जहां हैं वहीं सामान करने का कार्य बुधवार से शुरू हुआ है।
दवाई समेत अन्य वस्तुओं की जरूरत होने पर वहां के निवासियों को महानगर निगम की ओर दिए गए कंट्रोल रूम संख्या पर कॉल करके बताना चाहिए। सुरक्षित तौर पर इन वस्तुओं को उनके घर पहुंचाया जाएगा।
-डॉ. सुरेश इट्नाळ, आयुक्त, हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम
राशन किट वितरण
तालुक प्रशासन यहां रह रहे लोगों तथा बीपीएल समेत कोई भी राशन कार्ड धारक होने पर भी राशन का किट वितरित कर रहा है। लोगों, संघ-संस्थाओं से जरूरी सामानों को संग्रह किया जा रहा है। फिलहाल 40 परिवारों ने मात्र मांग सौंपी है, जिन्हें राशन पहुंचाया जा रहा है।
-शशिधर माड्याल, तहसीलदार, हुब्बल्ली शहर
..............बॉक्स में लगाएं
हो रहा लॉकडाउन का उल्लंघन
शहर के कई भागों में लॉकडाउन के उल्लंघन के नजारे भी दिख रहे हैं। सडक़ों पर वाहन ही परिवहन करते नजर आ रहे हैं। चन्नम्मा सर्कल व सर्वोदय सर्कल पर इक्का-दुक्का वाहनों को रोककर पुलिस की ओर से पूछताछ करने का दृश्य नजर आया। अधिकतर ऑटोरिक्शा, कार, दुपहिया वाहनों को रोकने की कोशिश नहीं की।
किसी से भी पूछने पर सब्जी, दवाई लाने का बहाना बोल रहे थे। बिना जरूरत के नहीं घूमने के जिला प्रशासन ने कड़े आदेश दिए हैं कहकर पुलिस के बताने तक दवाई की पर्ची निकालकर दिखाने की हद तक लोगों ने आसानी से घूमने का रास्ता तलाश लिया है। जरूरी सामान खरीदने के लिए लोग मोर, रिलायंस समेत अन्य किराना दुकानों के सामने कतारों में खड़े नजर आए। लॉकडाउन के दौरान भी महानगर निगम के चिटगुप्पी अस्पताल में ओपीडी के मरीज कतार में खड़े नजर आए। चिटगुप्पी अस्पताल में फिवर क्लिनिक खोला गया है जहां प्रतिदिन 75 से 100 जनों की जांच की जा रही है।

Zakir Pattankudi Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned