कन्दीकोण्ड फिर बने अम्मा संस्था के अध्यक्ष

कन्दीकोण्ड फिर बने अम्मा संस्था के अध्यक्ष
-सर्व सदस्यों की बैठक में आगामी कार्यक्रमों पर हुई चर्चा
इलकल (बागलकोट)

S F Munshi

21 Feb 2020, 08:42 PM IST

कन्दीकोण्ड फिर बने अम्मा संस्था के अध्यक्ष
इलकल (बागलकोट)
दिव्यांग, वृद्ध एवं निराश्रितों को नि:शुल्क आश्रय देकर उनकी देखभाल करने वाली अम्मा सेवा संस्था के सर्व सदस्यों की आम बैठक गुरुवार शाम को संपन्न हुई।
बैठक संस्था के सभाकक्ष में मानद अध्यक्ष गुरुदास नागलोटी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में अगली अवधि के लिए केशव शीवप्पा कन्दीकोण्ड को अध्यक्ष, ललिताबाई हनमन्तप्पा सप्परद को उपाध्यक्ष एवं पुरुषोत्तम नारायणदास दरक को प्रशासन अध्यक्ष के पद पर निर्विरोध चुना गया। केशव कन्दीकोण्ड ने अध्यक्ष पद पर लगातार तीसरी बार चुने जाने के साथ ही अपनी जीत की हैट्रिक भी बनाई।
बैठक के दौरान सबसे पहले नारायण कन्दीकोण्ड ने सदस्यों का स्वागत किया। प्रशासन अध्यक्ष पुरुषोत्तम दरक ने विगत पांच साल की गतिविधियों का ब्योरा पेश किया और आगामी वित्तीय वर्ष में किए जाने वाले कार्यों के बारे में जानकारी दी। बैठक के दौरान संस्था के वरिष्ठ सदस्य दामोदर प्रभुलाल डागा ने कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए। सदस्यों ने एक राय बनाते हुए कहा कि हालांकि वृद्धाश्रम हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं होने के बावजूद आज की आवश्यकता बन गई है, इसलिए कुछ अन्य वृद्धाश्रमों की स्थापना पर विचार किया जाना चाहिए। इस बारे में काफी चर्चा के बाद निर्णय किया गया कि गांव के आसपास ही जमीन खरीदकर वहां एक आधुनिक वृद्धाश्रम बनाया जाना चाहिए। बैठक में संस्था के सदस्य लक्ष्मण गुरम, सी.सी. चन्द्रपट्टण व नवनीत बोरा ने भी सुझाव दिए।
अध्यक्ष केशव कन्दीकोण्ड ने कहा कि जब कोई काम पूरी ईमानदारी व निष्ठा के साथ किया जाता है तो वहां दानदाताओं की भी कोई कमी नहीं होती। हमारी संस्था पूरी तरह दानदाताओं की ओर से दी गई राशि से ही चल रही है। पिछले करीब 35 वर्षों से संस्था वृद्धोंं, दिव्यांगों व अनाथों की नि:शुल्क सेवा करती आ रही है। वर्तमान में यहां 30 से अधिक लोग रह रहे हैं और उनकी समुचित देखभाल की जा रही है। दानदाताओं के सहयोग से और यहां चार नए कमरों का निर्माण कार्य किया जा रहा है, जो अंतिम चरण में है। इनके अलावा प्राथमिक चिकित्सा के लिए एक अन्य कमरे का निर्माण किया जा रहा है। प्रशासन अध्यक्ष पुरुषोत्तम दरक अपनी भूमिका बेहतरीन तरीके से निभा रहे हैं। यहां रहने वाले सभी लोगों की सेवाभाव से पूरी देखरेख करते आए हैं। बैठक के अंत में तुकाराम रामदुर्ग ने सभी सदस्यों का आभार जताया।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned