असहायों को विधिक सहायता दिला रहा है कानून सेवा प्राधिकरण

असहायों को विधिक सहायता दिला रहा है कानून सेवा प्राधिकरण

By: S F Munshi

Published: 22 Jun 2021, 07:58 PM IST

असहायों को विधिक सहायता दिला रहा है कानून सेवा प्राधिकरण
-जिला तथा सत्र न्यायाधीश उमेश अडिग ने कहा
धारवाड़
भारतीय संविधान देश के नागरिकों को मूलभूत अधिकार तथा सेवाएं कानून सेवा प्राधिकरण के माध्यम से उपलब्ध करवाता है।
ये विचार प्रधान जिला तथा सत्र न्यायाधीश उमेश अडिग ने व्यक्त किए। वे एक साल से अधिक अवधि तक हुब्बल्ली के प्रथम अतिरिक्त वरिष्ठ सिविल न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में सेवा देकर तबादला पाने वाले वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश तथा जिला कानून सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव आरएस चेण्णन्नवर अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि कानून सेवा प्राधिकरण अधिनियम संविधान के कारक जनता तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभा रहा है।
प्रधान सिविल न्यायाधीश तथा सीजेएम संजय गुदगुडी ने कहा कि कानून सेवा प्राधिकरण के माध्यम से अदालती सेवाएं कानून सेवा प्राधिकरण के माध्यम से जनता तक पहुंचाने में वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश आरएस चेण्णन्नवर को सफलता मिली है। गरीबों की सेवा के लिए यह एक अच्छा अवसर है।
सम्मान स्वीकार करने के उपरांत आरएस चिण्णन्नवर ने कहा कि जिला कानून सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव के रूप में उनकी सेवा जीवन का महत्वपूर्ण पड़ाव है। न्यायाधीश बनने के पश्चात लगातार जनता के संपर्क में आने की वजह से कई प्रकार के अनुभव प्राप्त हुए हैं। मंच पर धारवाड़ जिले के स्थाई जनता न्यायालय की अध्यक्षा विजयलक्ष्मी उपनाल उपस्थित थी। कार्यक्रम में तबादला पाने वाली कानून सेवा प्राधिकरण की प्रधान रूपा का भी सम्मान किया गया।
इस अवसर पर वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश आरएस चिण्णन्नवर की सेवा के बारे में वकील नूरजहांन किल्लेदार, विवेक जैन आदि ने विचार व्यक्त किए। अतिथियों का स्वागत स्टाफ मंजुनाथ अंजुणगी ने किया। कार्यक्रम का संचालन दीपक वालद ने किया। इस अवसर पर वरिष्ठ न्यायाधीश वाई सी मद्दूर, सोमशेखर जाडर, एसआर देसाई सहित कई उपस्थित थे।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned