महंगे खाद-बीज बेचने वालों का लाइसेंस होगा रद्द

कृषि मंत्री बीसी पाटील ने कहा, कोई भी विक्रेता बुवाई के बीज और रासायनिक खाद का कृत्रिम अभाव पैदा करने पर तथा सरकार की निर्धारित दर से अधिक दर में बिक्री करने पर ऐसे दुकानों का लाइसेंस रद्द कर तुरंत उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए।

By: MAGAN DARMOLA

Published: 09 Jun 2021, 06:42 PM IST

धारवाड़. कृषि मंत्री बीसी पाटील ने कहा है कि बुवाई के बीज, रासायनिक खाद आदि का कृत्रिम अभाव पैदा कर अतिरिक्त दरों में बिक्री करने वाले दुकानदारों के लाइसेंस रद्द कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वे धारवाड़ के कृषि विश्वविद्यालय के किसान केन्द्र में मानसून सीजन की पूर्व तैयारी बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछले साल उत्तम बारिश हुई है। राज्य में 153 लाख टन खाद्य उत्पादन हुआ है। मौजूदा वर्ष भी उत्तम बारिश हुई है। प्रति जिले में आवश्यकता से अधिक बुवाई के बीज और रासायनिक खाद का संग्रह किया गया है। कोई भी विक्रेता बुवाई के बीज और रासायनिक खाद का कृत्रिम अभाव पैदा करने पर तथा सरकार की निर्धारित दर से अधिक दर में बिक्री करने पर ऐसे दुकानों का लाइसेंस रद्द कर तुरंत उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए।

मंत्री पाटील ने कहा कि धारवाड़ जिले में कलघटगी तालुक में मिट्टी सुधारक को जैविक डीएपी तथा खाद बताकर मिनी ट्रक में बिक्री करने वालों को रोक कर 56 बोरियां 75 हजार रुपए मूल्य का खाद जब्त किया गया है। बिक्री करने वाले आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर 10 दिन तक (सीआरपीसी 420 के तहत) कारागार में रखा गया था। धारवाड़ शहर के साधनकेरी में एएस ग्रुप संस्था की ओर से मिट्टी सुधारक को जैविक डीएपी यूरिया खाद बताकर बिक्री करने वालों के दस्तावेजों की जांच कर संस्था खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की गई है।

नकली बीज बेचने वालों पर कानूनी कार्रवाई

उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के जागृति कोष की ओर से 2020-21वें वर्ष में 16.20 करोड़ रुपए के तथा वर्ष 2021-22 में 1.06 करोड़ रुपए मूल्य के नकली बीज और रासायनिक खाद तथा कीटनाशकों को जब्त किए गए हैं। 2020-21 वें वर्ष में 55 तथा 2021-22 में 13 प्रकरणों को दर्ज किए गए हैं। नकली जैव कीटनाशकों की बिक्री करने वाले दुकानों के खिलाफ वर्ष 2019-20 में 69 मामले तथा 2020-21 में 7 मामले दायर किए गए हैं। पिछले वर्ष में राज्य भर में 266 विक्रेताओं का लाइसेंस रद्द किया गया है। मौजूदा वर्ष में 15 दुकानों के लाइसेंस रद्द किए गए हैं।

खाद का पर्याप्त भंडार उपलब्ध

उन्होंने कहा कि राज्य में आवश्यकता अनुसार बुवाई के बीज तथा रासायनिक खाद का संग्रह है। धारवाड़ जिले में यूरिया 12 हजार 714 टन संग्रह है जिसमें 7 हजार 704 टन की बिक्री होकर 5 हजार 10 टन बचा है। डीएपी 12 हजार 286 टन संग्रह है जिसमें 7 हजार 954 टन की बिक्री होकर 4 हजार 332 टन बचा हुआ है। पोटाश खाद 3 हजार 878 टन संग्रह है जिसमें 886 टन बिक्री हुई है जिसमें 2 हजार 992 टन संग्रह है। कॉम्प्लेक्स रासायनिक खाद 14 हजार 258 टन संग्रह है जिसमें 5 हजार 879 टन की बिक्री होकर 8 हजार 379 टन संग्रह है। कुल विविध रासायनिक खाद अबतक 22 हजार 423 टन बिक्री हुई है तथा 2 हजार 713 टन बचा है।

Show More
MAGAN DARMOLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned