सोलापुर में लॉकडाउन का वस्त्रोद्योग पर असर

सोलापुर में लॉकडाउन का वस्त्रोद्योग पर असर

By: S F Munshi

Updated: 20 May 2021, 08:47 PM IST

सोलापुर में लॉकडाउन का वस्त्रोद्योग पर असर
-महीने भर में 150 करोड़ का नुकसान
कोल्हापुर
सोलापुर जिले में 15 अप्रैल से जारी लॉकडाउन के चलते वस्त्रोद्योग को लगभग 150 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। पेंतीस हजार से ज्यादा पावरलूम कामगारों की मजदूरी रुकी हुई है। इसका असर पावरलूम उद्यमियों के साथ कामगारों पर भी बड़े पैमाने पर हुआ है।
कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते लॉकडाउन लगाया गया। लॉकडाउन होते हुए प्रतिबंधक उपाययोजना की नियमावली लागू कर वस्त्रोद्योग को अनुमति दी गई। सोलापुर के पावरलूम कारखानों में कामगारों के लिए रहने के लिए सुविधा नहीं होने से उनको वहां रखकर कारखाना शुरू रखना संभव नहीं होने से 90 फीसदी कारखाने बंद हैं। सोलापुर में 800 कारखानेदार हैं। उनकी ओर 14 हजार पावरलूम हंै। इन कारखानों में लगभग 40 हजार कामगार काम करते हैं। इसमें से अब सिर्फ दस फीसदी कारखाने शुरू हंै। लॉकडाउन के चलते कामगारों को आने-जाने के लिए असुविधा होने के कारण कारखाने बंद रखे गए हैं। इससे हर दिन पांच करोड़ रुपए यानी माहभर में 150 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।
गए माहभर से पावरलूम कारखाने बंद होने से कामगारों के सामने जीने की समस्या खड़ी हुई है। ऐसे में अलग-अलग कामगार संगठनों ने कामगारों को अनामत देने की मांग की थी। उसके अनुसार सहायक कामगार आयुक्त ने इसमें मध्यस्थता कर पावरलूम कारखानादारों के साथ चर्चा की। उसके बाद कामगारों को दो हजार रुपए अनामत देने के लिए कारखानादार सहमत हुए। इस अनामत रकम से कारखानदारों पर लगभग आठ करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा ऐसा बताया गया। लॉकडाउन के चलते कामगारों को आने-जाने के लिए समस्या आ रही है। इसके लिए अनुमति दी गई तो कारखाने पहले जैसे शुरू हो सकते हं।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned