महानगर निगम को अभी तक नहीं मिला बकाया पेंशन अनुदान

महानगर निगम को अभी तक नहीं मिला बकाया पेंशन अनुदान
-राज्य सरकार की ओर से 69 करोड़ रुपए बकाया
-राज्य बजट में मिलने की उम्मीद
हुब्बल्ली

By: Zakir Pattankudi

Updated: 01 Mar 2020, 08:15 PM IST

महानगर निगम को अभी तक नहीं मिला बकाया पेंशन अनुदान
हुब्बल्ली
राज्य सरकार की ओर से हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम के लिए पेंशन अनुदान पूरे पैमाने पर अभी तक नहीं मिला है। 5 मार्च को पेश होने वाले राज्य बजट में पेंशन अनुदान मिलने की उम्मीद की जा रही है।
हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम आयुक्त डॉ. सुरेश इट्नाळ ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से महानगर निगम को कुल 114 करोड़ रुपए बकाया पेंशन अनुदान आना था, जिसमें प्रथम किश्त के तौर पर 19 करोड़, दूसरी किश्त में 26 करोड़ रुपए प्राप्त हुए हैं। 69 करोड़ रुपए बकाया है। इसमें 26 करोड़ रुपए मंजूर करने की मांग को लेकर शहरी विकास विभाग की ओर से वित्त विभाग को प्रस्ताव सौंपा गया है। शीघ्र ही राशि मंजूर होने की उम्मीद है।
वादा निभाएं
कांग्रेस नेता एवं पूर्व पार्षद गणेश टगरगुंटी ने बताया कि महानगर निगम के पेंशन बकाया अनुदान को मंजूर नहीं करके पिछली कांग्रेस तथा जद एस-कांग्रेस गठबंधन सरकार ने अन्याय किया है। भाजपा के सत्ता में आते ही बकाया पेंशन अनुदान मंजूर करने की कार्रवाई करने का तत्कालीन भाजपा विधायकों, महानगर निगम के पार्षदों ने बयान दिया था। फिलहाल उन्हीं की सरकार सत्ता में होने के बाद भी बकाया पेंशन अनुदान को मंजूर नहीं किया है। पिछली कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में 19 करोड़ रुपए तथा गठबंधन सरकार के कार्यकाल में 26 करोड़ रुपए बकाया पेंशन अनुदान मंजूर किया था। इसके अलावा हर माह महानगर निगम के सेवा निवृत्त कर्मचारियों को सरकार की ओर से ही पेंशन देने की व्यवस्था लागू की गई। बकाया पेंशन अनुदान मंजूर करने के लिए मौजूदा राज्य सरकार किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की है, जो निंदनीय है।
विशेष अनुदान लाएं
जद एस नेता राजण्णा कोरवी ने बताया कि महानगर निगम कार्यक्षेत्र की सड़कें, भूमिगत मलजल निकासी प्रणाली समेत मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करने के लिए इस बार के राज्य बजट में बकाया पेंशन अनुदान तथा एक हजार करोड़ रुपए विशेष अनुदान मंजूर करवाने के लिए भाजपा विधायकों, मंत्रियों को प्रयास करना चाहिए।
वित्तीय कमी
भाजपा नेता एवं पूर्व महापौर सुधीर सराफ ने बताया कि यह सच है कि भाजपा सरकार के सत्ता में आते ही बकाया पेंशन अनुदान को मंजूर करने की कार्रवाई करने का पूर्व में बयान दिया था परन्तु भाजपा के सत्ता में आते ही बाढ़, किसानों के ऋण माफी योजना के लिए अधिक अनुदान इस्तेमाल होने के कारण वित्तीय कमी से महानगर निगम को पूरे पैमाने में पेंशन अनुदान मंजूर नहीं हुआ है। हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम के लिए मौजूदा राज्य बजट में सौ से दो सौ करोड़ रुपए विशेष अनुदान देने की मांग को लेकर प्रस्ताव सौंपा गया है।

शीघ्र महानगर निगम का बजट पेश किया जाएगा

महानगर निगम के बजट की तैयारी की जा रही है। शीघ्र ही लोगों के साथ बजट पूर्व तैयारी बैठक आयोजित कर सलाह प्राप्त की जएगी। बजट तैयार करने के बाद महानगर निगम प्रशासनिक अधिकारी (प्रादेशिक आयुक्त) की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।
-डॉ. सुरेश इट्नाळ, आयुक्त, हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम

Zakir Pattankudi Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned