क्षतिग्रस्त हो गया करोडों की लागत से बना फुटपाथ

क्षतिग्रस्त हो गया करोडों की लागत से बना फुटपाथ

By: S F Munshi

Updated: 19 Mar 2021, 08:55 PM IST

क्षतिग्रस्त हो गया करोडों की लागत से बना फुटपाथ
-इसके लाभ से वंचित रह गई जनता
शिवमोग्गा
वाहनों की आवाजाही सुगम बनाने के लिए तथा पैदल यात्रियों की सुविधा के लिए करोड़ों रुपए की लागत से शिवमोग्गा शहर के बीचों-बीच शिवप्पा नायक तथा ए.ए. चौराहे पर निर्मित अंडरपास फुटपाथ बेकार हो गया है। स्थानीय प्रशासन की ओर से करोड़ों रुपए खर्च किए जाने के बावजूद जनता इसके लाभ से वंचित रह गई है। अंडरपास निर्माण कार्य पूर्ण होने के पश्चात अंडरपास का उपयोग करने की अपील किए जाने के बावजूद जनता ने दिलचस्पी नहीं दिखाई।
पुलिस ने इस मार्ग को सुचारू बनाने का हर संभव प्रयास किया परंतु पुलिस की बातों का असर भी जनता पर नहीं पड़ा। ज्यों-ज्यों समय बीतता गया त्यों-त्यों अंडरपास खंडहर में परिवर्तित होता गया। यहां अनैतिक गतिविधियां पनपने लगी। इन सभी हालात पर गौर करते हुए पहरेदारों को नियुक्त किया गया। बाद में अंडरपास के फाटक पर ताले जड़ दिए गए। इस अंडरपास मार्ग को वाहनों तथा जनता की आवाजाही के लिए सुगम बनाने का हरसंभव प्रयास किया गया परंतु प्रशासन की ओर से उठाया गया कोई भी कदम लाभप्रद सिध्द नहीं हुआ।
उद्देश्य अधूरा रहा
कुछ माह पहले वीरशैव सभागृह मार्ग, शिवप्पनायक चौराहे के दोनों तरफ फुटपाथ पर व्यापार करने वालों का स्थानांतरण करने संबंधित विचार निगम प्रशासन की ओर से किया गया। पानी बहकर आने की वजह से अंडरपास तरणताल के रूप में परिवर्तित हो चुका है। पानी कहां से आ रहा है? यह पता लगाना निगम के अधिकारियों के लिए संभव नहीं हो पाया। कुछ सूत्रों के अनुसार यह जल भूमिगत जल है। बहते पानी पर नियंत्रण करना पानी को बाहर निकालना प्रशासन के लिए सिरदर्द बना हुआ है।
शिवप्पा नायक, ए.ए. चौराहे पर वाहनों व जनता की भीड़ है। गांधी बाजार, बी.एच. मार्ग, नेहरू मार्ग, ओ.टी. मार्ग सहित प्रमुख सडक़ों को जोड़ती है। इन दोनों मार्गों पर पैदल यात्रियों की सुविधा के लिए अंडरपास निर्माण करने की योजना बनाई गई थी।
वर्ष 2010 में सरकार की ओर से अनुदान भी जारी किया गया। लोकनिर्माण विभाग की ओर से निर्माण कार्य शुरु भी किया गया। बाद में निर्माण की जिम्मेदारी निगम प्रशासन को हस्तांतरित किया गया। उपयुक्त योजना की किल्लत, अनुचित कार्यान्वयन के चलते अंडरपास बेकार पड़े हैं। जनता जो कर भरती थी वह भी मानो बेकार हो गया। जिलाप्रशासन से जनता मार्ग को सुगम बनाने व अंडरपास निर्माण कार्य को ठीक तरह से पूर्ण करने की मांग कर रही है।
निरुपयोगी बने हैं मार्ग वर्तमान निगम के लिए अंडरपास फिजूल सिध्द हुई है। एक ओर से जहां अंडरपास की वजह से जनता को कोई लाभ नहीं हो रहा वहीं वैकल्पिक उद्देश्य से जो भी योजनाएं बनाई जा रही है वे लाभप्रद सिध्द नहीं हो रहे हैं।
इनका कहना है
फुटपाथ पर पानी के अपप्रवाह को रोकने के लिए ठोस कदम उठाया गया है। बेंगलूरु से आए विशेषज्ञ भी जांच कर सलाह व निर्देश दे चुके हैं। अंडरपास में व्हीप ***** की वजह से समस्याएं हो रही है। समय रहते समस्याओं को सुलझाया जाएगा।
-एसएम हरीश,
महानगर निगम के कार्यकारी अभियंता शिवमोग्गा

.....................................................................

कीमती मंगलसूत्र उड़ाकर चोर फरार
-सडक़ पर जा रहीं थी महिला
शिवमोग्गा
सडक़ पर जा रही महिला का मंगलसूत्र उड़ाकर चोर फरार हो गए। यह घटना जिले के सागर शहर में बुधवार रात को घटी। यह घटना रात को करीब 9.30 बजे के आसपास शहर के चामराजपेट के केनरा बैंक के सामने वाली सडक़ पर घटी। मंगलसूत्र गंवाने वाली महिला एसएन नगर निवासी सुजाता है। बाइक पर आए कुछ लोग महिला के गले से 38 ग्राम का मंगलसूत्र छीनकर फरार हो गए। मामला सागर शहर के पुलिस थाने में दर्ज किया गया है।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned