तृतीय चरण का कोविड वैक्सीन कार्यक्रम शुरू

तृतीय चरण का कोविड वैक्सीन कार्यक्रम शुरू

By: S F Munshi

Published: 02 Mar 2021, 12:40 AM IST

तृतीय चरण का कोविड वैक्सीन कार्यक्रम शुरू
-स्वास्थ्य मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने किया उद्घाटन
सिरसी-कारवार
राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के. डॉ. के. सुधाकर ने कहा है कि राज्य में तृतीय चरण के कोविड वैक्सीन कार्यक्रम की सिरसी से शुरुआत की गई है। वे सिरसी के यल्लापुर रोड स्थित डॉ. अंबेडकर सभा भवन में सोमवार को तृतीय चरण के कोविड वैक्सीन कार्यक्रम का उद्घाटन कर बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि आज से 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग तथा 45 वर्ष से अधिक आयु के अन्य बीमारियों से पीडितों को कोविड वैक्सीन दी जा रही है। जिला प्रशासन को ऐसे लोगों की पहचान कर वैक्सीन देनी चाहिए। राज्य में उत्तर कन्नड जिले को आदर्श जिला बनाना चाहिए।
डॉ. सुधाकर ने कहा कि पहले चरण को बेंगलूरु से, द्वितीय चरण को हैदराबाद-कर्नाटक से तथा तृतीय चरण के कोविड वैक्सीन कार्यक्रम को इस क्षेत्र से शुरुआत की गई है। 250 वैक्सीन केन्द्रों की पहचान की गई है। 60 वर्ष से अधिक आयु के 50 लाख जने तथा 45 वर्ष से अधिक आयु के अन्य बीमारियों से ग्रस्त 16 लाख लोग हैं। इतने जने वैक्सीन लेंगे तो कोविड नियंत्रण करने में आसानी हो जाएगी। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वयं कोविड वैक्सीन लगवाई है। लोगों को गलत अफवाहों की ओर ध्यान नहीं देना चाहिए। सरकार की जानकारी में दिए जाने वाले वास्तविकता को ध्यान में रखते हुए आपके घर के सदस्यों को भी वैक्सीन लगवाने पर समस्या दूर होसकती है। कई देशों में वैक्सीन देकर सफल हुए हैं।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र काफी पिछडा हुआ था। राष्ट्रीय आर्थिक संस्खा ने स्पष्ट रूप से कहा है। प्रति राज्य केन्द्र सरकार की दी जाने वाली सुविधा को छोड कर 8 प्रतिशत आरक्षित करना चाहिए। स्थाई नियुक्ति करने के लिए कहा गया है। कई सालों से चिकित्सकों की कमी देख रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में उत्तर कर्नाटक के गांव तथा पहाडी इलाकों को जाने के लिए 2 हजार 180 चिकित्सकों की सीधे नियुक्ति करने का कार्य इतिहास में पहली बार हुआ है। रिक्त पदों पर नियुक्ति करने का कार्य, चिकित्सकों को विशेष भत्ता एवं कम अवधि में जल्दी से प्रमोशन देने का विचार किया गया है। स्वास्थ्य क्षेत्र में पेंशन देने आदि का नियम बदलकर कानून बनाया जा रहा है।
डॉ. सुधाकर ने कहा कि कोविड निवारण के लिए कोरोना वारियर्स के परिश्रम ने राज्य का नाम रोशन किया है। कई लोगों को मौत से बचाने के लिए आपका सहयोग अच्छा है। सभी चिकित्सा कालेजों में पीपीपी की तर्ज में व्यवस्था उपलब्ध की जाएगी। प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय व्यवस्था के प्राथमिक चिकित्सा व्यवस्था उत्तम होने के लिए जहां एक चिकित्सक है वहां पर दो चिकित्सकों की सेवा दी जा रही है। 24 घंटे चिकित्सा सेवा के लिए योजना तैयार की जा रही है। एक साल स्नातकोत्तर की पढाई करने वाले चिकित्सकों की नियुक्ति की जा रही है। स्वास्थ्य सेवाएं और उत्कृष्ट बनाने के लिए मौजूदा कर्मचारियों को और सुविधाएं देने उत्तम होने का विश्वास है।
विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगडे कागेरी तथा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. सुधाकर की उपस्थिति में राज्य विविधता मंडली के अध्यक्ष अनंत हेगडे आशीसर, पूर्व विधायक विवेकानंद वैद्य तथा उद्यमी एवं सिरसी जीवजल कार्य दल के अध्यक्ष श्रीनिवास हेब्बार ने कोविड वैक्सीन लगवाई।
जिलाधिकारी मुल्लै मुहलिन एम.पी., जिला पंचायत अध्यक्ष जयश्री मोगेर, जिला पंचायत सीईओ प्रियांग एम., जिला स्वास्थ्य अधिकारी शरत नायक, सिरसी उप विभागीय अधिकारी आकृति बंसाल, सिरसी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजानन भट आदि उपस्थित थे।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned