जिले में आज रहेगी निषेधाज्ञा

जिले में आज रहेगी निषेधाज्ञा
-स्वैब संग्रह केन्द्रों की संख्या बढ़ाएं
-जिलाधिकारी दीपा चोळन ने दिए आदेश
हुब्बल्ली-धारवाड़

By: S F Munshi

Published: 23 May 2020, 08:03 PM IST

जिले में आज रहेगी निषेधाज्ञा

हुब्बल्ली-धारवाड़
जिलाधिकारी दीपा चोळन ने कहा है कि कोरोना वायरस की रोकथाम की दिशा में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए रविवार को धारवाड़ जिले में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रहेगी।
इस बाबत आदेश जारी किया गया है। यह आदेश 23 मई की शाम 7 बजे से 25 मई की सुबह 7 बजे तक जारी रहेगा। वे धारवाड़ में जिलाधिकारी कार्यालय सभा भवन में स्वास्थ्य कार्यदल की सभा की अध्यक्षता करते हुए बोल रही थीं। इस अवधि में जिले में वाहनों की आवाजाही पर संपूर्ण रोक लगा दी गई है। दुकानें तथा व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के अलावा कोई भी वाणिज्य कारोबार के लिए अनुमति नहीं है।
जिलाधिकारी ने कहा कि बाजार, जात्रा महोत्सव, सम्मेलन, रैली, खेल प्रतियोगिताएं आदि गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है। 5 से अधिक लोगों का एकत्रित होना, जुलूस, सभा समारोह के आयोजनों पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। कर्फ्यू की अवधि में लोगों को आपात चिकित्सा कार्यों के अलावा बिना वजह घूमने पर रोक लगा दी गई है।
जिलाधिकारी ने कहा कि कर्फ्यू के दौरान जिले में विवाह समारोह में सिर्फ 50 लोगों को ही भाग लेने की अनुमति है। शव संस्कार कार्य में सिर्फ 20 जने भाग ले सकते हैं। सरकारी वाहनों को एवं कोरोना रोकथाम कार्य में जुटे कर्मचारियों तथा वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होगा। इस आदेश का उल्लंघन करने वालों को खिलाफ धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
बढाएं सैंपल संग्रह केन्द्रों की संख्या
जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी दिनों में कोरोना की जांच की मात्रा में वृद्धि कर जांच के लिए जिले के शहर एवं ग्रामीण इलाकों में नाक एवं गले के सैंपल संग्रह केन्द्रों को बढ़ाने चाहिए। बाहरी राज्यों से आने वालों की संख्या दिन ब दिन अधिक होती जा रही है। बाहरी जिलों से आने वालों को मुक्त प्रवेश होने के कारण खांसी, जुकाम, बुखार, सांस की समस्या के लक्षण वाले लोगों की कोरोना जांच करने के लिए हुब्बल्ली-धारवाड़ जुड़वां शहर तथा ग्रामीण इलाकों में नाक एवं गले के सैंपल संग्रह केन्द्रों को अधिक स्थापना करने चाहिए। फिलहाल जिले में मोबाइल स्वैब संग्रह केन्द्रों समेत 11 इकाइयां हैं। इनकी संख्या 20 होनी चाहिए। इस दिशा में जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अधिकारियों को तुरंत कार्यप्रवृत होकर शहर स्वास्थ्य केन्द्र एवं ग्रामीण इलाकों के समुदाय स्वास्थ्य केन्द्रों की पहचान कर आवश्यक सामग्रियों को उपलब्ध करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि किम्स एवं डिम्हांस में स्थित कोरोना प्रयोगशालाएं उत्तम कार्य कर रहे हैं। उनकी क्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक बायो सेफ्टी कैबिनेट समेत आधुनिक उपकरण एवं प्रशिक्षण प्राप्त मानव संसाधन उपलब्ध किए जाएंगे। सेवासिंधु वेब पोर्टल से बाहरी राज्यों से जिले को आने के लिए पंजीयन करवाए गए तथा जिले में आ चुके लोगों की समग्र समीक्षा करनी चाहिए।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. बी.सी. सतीश ने कहा कि आगामी दिनों में कोरोना प्रकरणों की संख्या अधिक होने के बावजूद सभी को नियमित उपचार मिलना चाहिए। इस दिशा में अभी निर्धारित अस्पतालों को चिन्हित कर कोरोना रोगियों के उपचार के लिए बैड आरक्षित करने की तैयारी करनी चाहिए।
हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर निगम आयुक्त डॉ. सुरेश इट्नाळ, अपर जिलाधिकारी शिवानंद कराळे, जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. यशवंत मदीनकर, किम्स चिकित्सक डॉ. लक्ष्मीकांत लोकरे आदि सभा में उपस्थित थे।
उद्योगों के पुन: शुरू करने संपूर्ण सहयोग देंगे
जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कड़ी सुरक्षा कार्रवाई तथा लॉकडाउन के चलते बंद हुए उद्योगों के पूर्ण रूप से कार्य शुरू करने जिला प्रशासन संपूर्ण सहयोग देगा। वे धारवाड़ में जिलाधिकारी कार्यालय सभा भवन में कर्नाटक वाणिज्योद्यम संस्था एवं जिले की औद्योगिक सभा को संबोधित कर रही थी।
उन्होंने कहा कि उद्योगों के पुन: शुरू करने की दिशा में सरकार ने विविध नियमों को बताया है। उद्योगों को अपने कुल श्रमिकों में 33 प्रतिशत का इस्तेमाल कर सामाजिक अंतर बनाए रखना चाहिए। मास्क पहनना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के निर्देश दिए हैं। उसी प्रकार अतिरिक्त तौर पर बारी के आधार पर मजदूरों का उपयोग कर उद्योगों को शुरू कर सकते हैं।
जिलाधिकारी ने कहा कि धारवाड़ जिले से झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, ओडिसा, गुजरात समेत विविध राज्यों को अब तक करीब 7 हजार श्रमिक वापस लौटे हैं। इससे उद्योगों को कौशल आधारित श्रमिकों की कमी आ रही है। ऋण एवं ब्याज लौटाने को समय तथा पूंजी निवेश के लिए अतिरिक्त आर्थिक सहायता समेत उद्यमियों की मांगों को संबंधित सरकार को पत्र लिखा जाएगा।
उन्होंने कहा कि उद्योगों को कच्चा सामग्री की आपूर्ति, वाहन समेत सभी सभी प्रकार के मालवाहक वाहनों को दिन के 24 घंटे आवाजाही की अनुमति देने कार्रवाई की जाएगी। उद्योगों को इंडस्ट्रीयल मार्ग बनाकर देंगे तो विशेष बस व्यवस्था, कर्फ्यू के दिनों में श्रमिकों को कार्यस्थल को लाने के लिए मौका दिया जाएगा। जिला प्रशासन के स्तर में निपटारा होने वाली समस्याओं का तुरंत समाधान किया जाएगा। राज्य एवं केन्द्र सरकार के नीति स्तर के विषयों को सरकार को बताया जाएगा।
हुब्बल्ली चेंबर आफ कामर्स के अध्यक्ष महेंद्र लद्दड ने कहा कि जिले में उद्योगों के पुन: शुरू करने में मदद करने पर जिला प्रशासन को धन्यवाद कहा। जिले के अनेक उद्योग श्रमिकों की समस्याओं का सामना कर रहे हैं। लघु तथा मध्यम उद्योगों को सरकार की ओर से घोषित सहायता मिलने के लिए काफी समय लेगेगा। मैंगो इंडस्ट्री समेत फूड प्रोसेसिंग फैक्टरियों को रविवार को भी कार्य करना पड़ता है। इसके लिए जिला प्रशासन की अनुमति देनी चाहिए।
उद्योगपति निंगण्णा बिरादर ने कहा कि लॉकडाउन से उद्योग संपूर्ण कार्य रोकने से काफी नुकसान हुआ है। सरकार को बैंकों से कैपिटल सब्सिडी राशि जारी करने की दिशा में तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। उद्योगों को दियागया ऋण वसूलने की कार्रवाई टाल कर ब्याज दर कम करना चाहिए।
सभा में कर्नाटक राज्य वित्त निगम की सहायक प्रधान प्रबंधक अन्नपूर्णा कोप्पद, लीड बैंक के मुख्य प्रबंधक के. ईश्वरनाथ, केआईएडीबी के विकास अधिकारी मनोहर वड्डर, बेलूर औद्योगिक संघ के अध्यक्ष श्रीकांत थिटे, सत्तूरु औद्योगिक संघ के अध्यक्ष आर.जी. भट्, कर्नाटक राज्य लघु उद्योग विकास निगम के एजीएम दिनेश जवली तथा अन्य उद्योगपतियों ने उद्योगों के सशक्तीकरण करने की दिशा में विचार व्यक्त किए।
उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के सह निदेशक मोहन भरमक्कनवर, जिले के औद्योगिक प्रस्तुत कार्य प्रबंधन एवं सरकार की ओर से उपलब्ध अनुकूलों का विवरण दिया।
सभा में उद्योग एवं वस्त्र विभाग के उप निदेशक वीरेश ढवले, श्रमिक विभाग की सहायक आयुक्त मीना पाटील, कर्नाटक राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडली की शोभा पोळ, औद्योगिक एवं वाणिज्य विभाग के उप निदेशक शिवपुत्रप्पा आर.एच., सहायक निदेशक डॉ. एम. भीमप्पा, उद्योगपति ए.टी. पवार समेत अन्य ने भाग लिया था।
..................................................................................

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned