scriptQuick solution of drinking water problem | पेयजल समस्या का करें शीघ्र समाधान | Patrika News

पेयजल समस्या का करें शीघ्र समाधान

पेयजल समस्या का करें शीघ्र समाधान

हुबली

Updated: November 17, 2021 11:21:48 pm

पेयजल समस्या का करें शीघ्र समाधान
-जलापूर्ति मंडल के खिलाफ प्रदर्शन
विजयपुर
केन्द्रीय योजना के तहत विजयपुर शहर में 24 गुणा ७ नियमित पेयजल आपूर्ति के लिए वर्ष 2016 में ही निविदा आवंटित करने के बाद भी पाइपलाइन बिछाने का कार्य कछुआ चाल में चल रहा है। इसकी निंदा कर कर्नाटक शहरी जलापूर्ति एवं मलजल निकासी मंड़ल के खिलाफ सामाजिक कार्यकर्ता प्रकाश बिद्नूर तथा जिला युवा परिषद अध्यक्ष शरणु सबरद के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया।
प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए युवा परिषद अध्यक्ष शरणु सबरद ने कहा है कि वर्ष 2016 में ही अमृत योजना की निविदा आवंटित की गई है। वर्ष 2019 में निर्माण कार्य के निविदा की अवधि समाप्त होने के बाद भी जनता को पानी नहीं पहुंचा। पूर्व में 8-10 दिन में एक बार पेयजल आपूर्ति होती थी, परंतु अमृत योजना निर्माण कार्य शुरू होने के बाद पेयजल समस्या उपजी है। ठेकेदारों ने शहर भर में खुदाई कर पाइपलाइन मात्र बिछाया है। इस कार्य को शुरु हुए पांच साल बीत चुके हैं। और कुछ दिनों में पाइपलाइन भी खराब हो जाएंगे। इसके लिए जिम्मेदार कौन होगा।
महानगर निगम ने किया ब्लैक लिस्ट
उन्होंने कहा कि अमृत योजना की निविदा प्राप्त ठेकेदार को विजयपुर महा नगर निगम ने ब्लैक लिस्ट में रखा है। इसके बावजूद उसी ठेकेदार को इस योजना का कार्य सौंपा गया है। कुछ जगहों में अवैज्ञानिक तौरपर पाइपलाइन तथा वाल बिठाए गए हैं। इलाके से अधिक ऊंचाई पर पाइपलाइन बिछाने से उन क्षेत्रों में पानी नहीं पहुंच रहा है। संबंधित अधिकारी इस कार्य से आमजनता के लिए परेशानी का कारण बने हुए हैं। जगह जगह खुदाई कर सड़कों को खराब किया गया है। इससे लोगों को आवाजाही में विभिन्न दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
अधिकारी खामोश
उन्होंने कहा कि अमृत योजना कार्य में इतना विलंब होने के बावजूद संबंधित अधिकारी खामोश क्यों हैं? ठेकेदारों से किकबैक प्राप्त कर योजना को तबाह किया है। इससे परेशान आमजनता ने महानगर निगम के रवैए की कड़ी निंदा कर रही है। लोगों को पेयजल के लिए 10 दिन में एक बार पानी के लिए तरसना पड़ रहा है। योजना विलंब का कारण बने अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए।
विजयपुर महानगर निगम के पूर्व पार्षद प्रकाश मिर्जी, अधिवक्ता एस.एस. खाद्री समेत सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन में भाग लिया।
मौके पर पहुंचे जलापूर्ति विभाग के कार्यकारी अभियंता पट्टणशेट्टी ने प्रदर्शनकारियों को शीघ्र योजना पूर्ण करने का अश्वासन दिया। पट्टणशेट्टी ने कहा कि इस योजना को 31 मार्च तक पूर्ण किया जाएगा। इस संबंध में शीघ्र जिलाधिकारी तथा प्रबंध निदेशक की मदद से सार्वजनिक सभा बुलाने के प्रयास किए जाएंगे।
पेयजल समस्या का करें शीघ्र समाधान
पेयजल समस्या का करें शीघ्र समाधान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Corona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकामुंबई: 20 मंजिला इमारत में भीषण आग में दो की मौत, राहत बचाव कार्य जारीयूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...ओमिक्रॉन का कहर-20 दिन में 117 फ्लाइट्स कैंसिलसरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, पांच छात्र समेत टीचर की रिपोर्ट पॉजिटिव, SDM ने एक सप्ताह के लिए स्कूल किया बंदलखीमपुर खीरी कांड में दूसरी चार्जशीट दाखिल, चार किसानों को बनाया आरोपी, तीन को राहत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.