कोल्हापुर में शुभमंगल सावधान.... कबूल है

कोल्हापुर में शुभमंगल सावधान.... कबूल है

By: S F Munshi

Published: 05 Apr 2021, 08:19 PM IST

कोल्हापुर में शुभमंगल सावधान.... कबूल है
-दोनों के घरवालों की सहमति से हुई अंतरजातीय शादी
कोल्हापुर
लड़का हिंदू धर्म का और लड़की मुस्लिमधर्मी। दोनों ही उच्चशिक्षित। बचपन से दोनों एक-दूसरे से प्यार करते थे। शादी का फैसला लेते समय दोनों के घरवालों ने अनुमति दे दी। इतना ही नहीं एक ही मंडप में हिंदू और मुस्लिम दोनों तरीकों से उनकी शादी हुई। शाहूनगरी कोल्हापुर में हुई इस अनोखी शादी के चलते पुरोगामी विचारों वालों नए सिरे से चालना देने का काम मुजावर और यादवों ने कर दिखाया है।
वधू मारशा नदीम मुजावर आर्किटेक्ट है और लड़का सत्यजित संजय यादव इंजीनियर है। पहले शादी का विरोध होगा ऐसा दोनों के मन में डर था लेकिन दोनों के घर वालों ने इसकी सहमति दे दी। मारशा के पिता नदीम मुजावर व्यावसायिक है। उनके पणजोबाने संस्थान काल में गामा-गुंगा की कुश्ती का आयोजन कोल्हापुर में किया गया था। मारशा के दादा असलम मुजावर 1968 में कोल्हापुर पालिका में पार्षद थे।
अनोखी शादी
मारशा और सत्यजित की शादी अलग से मनाने का फैसला उन्होंने लिया। शहर के होटल में मौलाना की उपस्थिति में पहले निकाह किया गया। उसके बाद हिंदू तरीके से अक्षता, सप्तपदी विधि हुई। मुहूर्तमेढ, हल्दी और मेहंदी की रस्म भी दोनों तरीकों से हुई।
माणुसकी धर्म मानते हैं
मारशा के पिता नदीम ने कहा कि वे माणुसकी धर्म मानते हैं। हमारे पणजोबा से लेकर हम राजर्षि शाहू महाराज के विचारों को मानते है। सभी जाति, धर्म के लोगों का दर करने की सिख हमें हमारे बुजुर्गों ने दी है जिससे हम सिर्फ मानवता यह एक ही धर्म मानते हैं।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned