दीयों से जगमगाया सिद्धारूढ़मठ परिसर

दीयों से जगमगाया सिद्धारूढ़मठ परिसर
-कार्तिक लक्ष दीपोत्सव की रही धूम
हुब्बल्ली

By: Zakir Pattankudi

Published: 27 Nov 2019, 07:32 PM IST

दीयों से जगमगाया सिद्धारूढ़मठ परिसर
हुब्बल्ली
सिध्दारूढ़ मठ में 25वें वर्ष का कार्तिक लक्ष दीपोत्सव मंगलवार रात्रि धूमधाम के साथ मनाया गया। दीपोत्सव के चलते मठ परिसर जन सैलाब उमड़ पड़ा था। श्रध्दालुओं की से प्रज्ज्वलित दीयों की रोशनी में सारा मठ परिसर जगमगा रहा था।
दीपोत्सव का उद्घाटन कर मठ प्रशासनिक अधिकारी जिला प्रधान एवं सत्र न्यायाधीश ईशप्पा भूते ने कहा कि बाहरी दुनिया के अंधकार को मिटाने के लिए दीप जलाते हैं इस प्रकार मन में स्थित अज्ञानता के अंधकार को मिटाने के लिए भक्ति का दीप जलाना चाहिए।
सूर्योदय से पहले ही श्रध्दालुओं ने लक्ष दीपोत्सव मनाने के लिए मठ परिसर पहुंचे थे। लक्ष दीपोत्सव के बीच अपना भी एक दीया रोशन किया। जाति, धर्म, पंथ के मतभेद को भूलकर सिध्दरूढ़ मठ में दीप रोशन किया। एक के बाद एक प्रज्ज्वलित किए दीए अंधेरा होते ही जगमगा उठे। जिधर भी नजर दौड़ाओ दीए ही नजर आ रहे थे। देर रात्रि एक बजे तक श्रध्दालुओं की भीड़ उमड़ रही थी।
सिध्दारूढ़ स्वामी के पीठ के सामने सभा भवन में कार्यक्रम आरम्भ होते ही। आतिशबाजी की गई जिससे आकाश पर रंग बिरंगी आतिशबाजी ने सब को मंत्र मुग्ध कर दिया।
राज्य के विभिन्न जिलों के अलावा महाराष्ट्र, गोवा, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश से सैकड़ों श्रध्दालु आए थे। दीपोत्सव के उपलक्ष्य में सिध्दारूढ़ तथा गुरुनाथरूढ़ स्वामी के पीठ की विशेष पूजा की गई। रुद्राभिषेक, पंचामृत अभिषेक कर प्रसाद वितरित किया गया।
इस अवसर पर शरणप्पनवर मठ के वासुदेवानंद स्वामी, महालिंगपुर के सहजानंद स्वामी, सिध्दारूढ़मठ ट्रस्ट समिति के अध्यक्ष डीडी मालगी, ट्रस्टी एसआई कोलकूर, जीएस नायक, जगदीश मगजिकोंडी, एनए पाठक, प्रबंधक ईरप्पा तुप्पद आदि उपस्थित थे।

Zakir Pattankudi Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned