खेलों से होता है व्यक्तित्व विकास

खेलों से होता है व्यक्तित्व विकास
-पुलिस आयुक्त आर. दिलीप ने कहा
हुब्बल्ली

खेलों से होता है व्यक्तित्व विकास
हुब्बल्ली
हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर पुलिस आयुक्त आर. दिलीप ने कहा है कि मोबाइल तथा सोशल मीडिया के पाश में जकड़े लोग लोक कला से लोग दूर रह रहे हैं। स्वास्थ्य जीवन के लिए खेल बेहद जरूरी है। खेलों से सामाजिक जीवन बनता है।
केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी की क्षमता सेवा संस्था की ओर से कुसुगल रोड स्थित ऑक्सफोर्ड कॉलेज के पास स्थित खुले मैदान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय पतंग उत्सव का उद्घाटन कर आर. दिलीप ने कहा कि खेल व्यक्ति के जीवन में सामाजिक सुरक्षा तथा सामाजिक जीवन गठित करते हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए खेल जरूरी है परन्तु मौजूदा दौर में मोबाइल तथा सोशल मीडिया के माहौल से खुले मैदान में खेलना छोड़कर बच्चे, जवान, बूढ़े हर कोई हाथों में मोबाइल पर खेलते हुए अपने अमूल्य जीवन के पलों को खो रहे हैं। इस मोबाइल का असर पुलिस पर भी अधिक पड़ा है। इससे पुलिसकर्मी भी अस्वस्थ हो रहे हैं।
उन्होंने कहा कि बच्चों को चारदीवारी से बाहर नहीं लाते हैं। बच्चों को सामाजिक जीवन में घुलने-मिलने के लिए चारदीवारी में ही विशेष व्यक्तित्व विकास का प्रशिक्षण दिलवाते हैं। बच्चों को खुले में प्राकृतिक माहौल में खेलने के लिए भेजना चाहिए। इससे बच्चे सामाजिक जीवन की सीख लेते हैं। मिल-जुलकर रहने, नेतृत्व के गुण सीखते हैं।
विधायक शंकर पाटील मुनेनकोप्प ने कहा कि सभी तबकों के लोग एक ही जगह एकत्रित हो इस उद्देश्य से पतंग उत्सव का आयोजन किया गया है। सभी का भला चाहने वाली संस्था क्षमता संस्था है। खेल लोगों को एकजुट तथा एकता का भाव विकसित करने का मार्ग है। इसके चलते सभी भी खेलों में भाग लेना चाहिए।
बेलगावी विधायक अभय पाटील ने कहा कि पतंग उत्सव वास्तव में एक अनोखा खेल है। दस वर्ष पूर्व जब वे पतंग उत्सव मनाने का फैसला लिया था तो लोग उन पर हंसने लगे थे। कईयों ने उनका मजाक भी उड़ाया था। करने को कोई काम नहीं है इसलिए पतंग उत्सव आयोजित करने का तंज भी किया था। जब पतंग उत्सव आयोजित किया तो हजारों लोग इसे देखने उमड़े। अब लाखों लोग पतंग उत्सव देखने आते हैं। यह लोगों को एकत्रित करने के साथ मनोरंजन का खेल है।
विधान परिषद सदस्य प्रदीप शेट्टर की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में सुनील पुर्णेकर, बसवराज कुन्दगोल मठ, दत्तमूर्ति कुलकर्णी, नागेश कलबुर्गी, डी के चौहान, ज्योति जोशी, कमला जोशी, मल्लिकार्जुन साहूकार, एम नागराज, लिंगराज पाटील, सीमा लदवा, महेंद्र कौताल, शिवु मेनसिंकाई, महेश टेंगीनकाई, समेत कई उपस्थित थे।
राधिका कुलकर्णी प्रार्थना गीत पेश किया। क्षमता सेवा संस्थान के संचालक गोविन्द जोशी ने स्वागत किया।

Zakir Pattankudi Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned