तालाब भरने से भूमिगत जलस्तर बढ़ा

तालाब भरने से भूमिगत जलस्तर बढ़ा

By: S F Munshi

Updated: 18 Jun 2021, 11:05 PM IST

तालाब भरने से भूमिगत जलस्तर बढ़ा
-टैंकर और बोरवेल किराए पर लेने की नहीं पड़ रही जरूरत
विजयपुर
टैंकर जिले के नाम से विख्यात विजयपुर जिले में इस बार गर्मियों के दिनों
में टैंकर और निजी बोरवेल किराए पर लिये बगैर पेयजल
का प्रबंधन करने में मदद मिली है। यह जानकारी जिला पंचायत मुख्य कार्यकारी गोविंद
रेड्डी ने दी। उन्होंने बताया कि अच्छी बारिश,
लोकप्रतिनिधियों तथा उच्चाधिकारियों के सहयोग पेयजल के
लिए उपयोग में लाए जाने वाले तालाबों को समय समय पर भरा गया है। ग्राम
पंचायत स्तर पर पेयजल प्रबंधन सफलतापूर्वक किया गया है। इस बार गर्मियों के
दिनों मे टैंकर का उपयोग नहीं किया गया। इससे पहले गर्मी के दिनों में
फरवरी माह से ही टैंकर मंगवाए जाते थे। टैंकर से जिन गांवों को पानी उपलब्ध
करवाया जाता था उसकी सूची बनाकर पानी की किल्लत की वजह को जानकर साल के
प्रारंभ से ही जल की समस्याओं को सुलझाने के कार्यक्रम बनाए गए हैं। सभी
तालाबों को भरा गया है। बहुग्राम
पेयजल योजना को सफल बनाने के लिए तालाब से 615 आवासीय क्षेत्र को पेयजल
उपलब्ध करवाया जा रहा है। बहुग्राम पेयजल योजना के अंतर्गत आलमट्टी,
नारायणपुर बांध के बैकवाट तथा भीमा नदी से पानी प्राप्त कर उसे शुध्द कर
319 आवासीय क्षेत्र को उपलब्ध करवाया जा रहा है। आलमट्टी तथा नारायण
जलाशय से समय समय पर तालाब भरे गए हैं जिसकी वजह से गर्मी के दिनों में
पानी की किल्लत का सामना नहीं करना पड़ा। नहर में पेयजल बहाने में जिला
प्रभारी मंत्री, विधायक, क्षेत्रीय आयुक्त, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक,
केबीजेएनएल इंजीनियों, राजस्व विभाग तथा ग्रामीण पेयजल विभाग के इंजीनियरों की भूमिका अहम रही।
अच्छी बारिश तथा समय समय पर तालाबों को भरने की वजह से भूमिगत जल स्तर की मात्रा बढऩे की वजह से ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की किल्लत नहीं हुई। बोरेवेल को फ्लशिंग कर पानी की समस्याओं को सुलझाया गया है।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned