खुदा की बारगाह में झुके हजारों सिर

खुदा की बारगाह में झुके हजारों सिर

Zakir Pattankudi | Updated: 12 Aug 2019, 08:44:20 PM (IST) Hubli, Dharwad, Karnataka, India

खुदा की बारगाह में झुके हजारों सिर
-एक-दूसरे से गले मिले, कहा- ईद मुबारक
-बाढ़ पीडि़तों की सलामती की मांगी दुआ
हुब्बल्ली

खुदा की बारगाह में झुके हजारों सिर
हुब्बल्ली
मुस्लिम धर्मावलंबियों का पवित्र त्योहार ईद-उल-अजहा (बकरीद) सोमवार को परंपरागत उल्लास से मनाया गया। खुदा की बारगाह में हजारों मुस्लिम धर्मावलंबियों ने ईद की सामूहिक नमाज अदा की। नमाज के बाद एक-दूसरे से गले मिल कर ईद की मुबारकबाद दी। सभी नमाजियों ने नमाज के दौरान धारवाड़, बेलगावी, बागलकोट समेत समूचे कर्नाटक के बाढ़ पीडि़तों की सलामती के साथ-साथ मुल्क में अमन-चैन की दुआ मांगी।
शहर के रानी चन्नम्मा सर्कल स्थित ईदगाह में मौलाना जहीरुद्दीन काजी ने नमाज अदा करवाई। इस मौके पर सभी ने एक दूसरे को गले मिलकर मुबारकबाद दी। बाद में कुर्बानी दी गई। इस मौके पर कई जनप्रतिनिधियों व अन्य धर्मों के लोगों ने मुस्लिम समुदाय के लोगों सेे गले मिलकर मुबारकबाद दी।
शहर के रानी चन्नम्मा सर्कल, उणकल, नव नगर, संतोष नगर, मंटूर रोड, पुरानी हुब्बल्ली, अमरगोल आदि ईदगाहों तथा शहर की विभिन्न मस्जिदों में मुस्लिम समुदाय के लोग नमाज अदा की। एक दूसरे के गले मिल मुबारकबाद दी। यह क्रम देर शाम तक चलता रहा। आपस में त्योहार की खुशी बांटी। बच्चे, युवा व बुजुर्ग सफेद कुर्ता व पैजामा तथा टोपी पहने घरों से नमाज पढऩे निकले, और नमाज अदा की।
नमाज से पहले ईदगाहों व मस्जिदों में तकरीर कर इस्लाम व कुर्बानी की बातें बताई गई। नमाज के बाद बकरे की कुर्बानी दी गई। देर शाम तक दावतों का दौर चलता रहा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned